भारतीय सेना की हुंकार..पाकिस्तान को उसी की भाषा में दिया जवाब…लश्कर कमांडर ढेर

0
85
loc
Loading...

भारत का पड़ोसी देश लंबे समय से शांति का राग गा रहा है लेकिन इसके बावजूद पीठ पीछे वार करने की तरह पाकिस्तान हर बार सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन भी कर रहा है। महज डेढ़ महीने पाकिस्तान की तरफ से सीमा पर 513 बार सीज़फायर का उल्लंघन किया गया। जिससे साफ है कि पाकिस्तान के खाने के दांत कुछ और है और दिखाने के कुछ और है। लेकिन पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का भारत भी मुंहतोड़ जवाब दे रहा है।

दरअसल पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर उल्लंघन की बात लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने राजौरी दिवस के मौके पर राजौरी में कही। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर लंबे समय से गोलाबारी की जा रही है। इस दौरान पाकिस्तानी सैना की जरीए बड़े और भारी हथियारों का इस्तेमाल हो रहा है। ताकि वह भारत के रिहायशी इलाकों को निशाना बना जा सके। हालांकि पाकिस्तान को कई बार चेतावनी भी दी है लेकिन पाक अनपी हरकतों से बाज नहीं आता। ऐसे में भारतीय जवानों ने भी उसी की भाषा में जवाब देना शुरू कर दिया है।

वही इस कार्यक्रम के दौरान किश्तवाड़ में आतंकवाद की जड़ों पर लेफ्टिनेंट जनरल ने कहा कि आतंकवादी संगठन किश्तवाड़ में अपने पैर पसारने में लगा है। जिसपर सेना जल्द काबू पा लेगी। आतंकवादियों की दरपकड़ के लिए आपरेशन शुरू भी कर दिया गया है। इस ऑपरेशन में सेना ने कई संदिग्ध लोगों को हिरास्त में भी लिया गया है। लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने कहा कि राष्ट्र विरोधी ताकतों को जम्मू-कश्मीर व भारत के किसी राज्य में पनपने नहीं दिया जाएगा। उन्हें जड़ से उखाड़ फैंकने के लिए सेना सक्षम है।

आपको बता दे कि राजौरी दिवस साल 1948 से मनाया जा रहा है भारत और पाकिस्तान बीच बंटवारा तो हो गया था लेकिन पाकिस्तान ने राजौरी हिस्से में 1948 तक कब्जा किया हुआ था। जिसे भारतीय सेना ने आज के दिन यानी की 13 अप्रैल को मुक्त करवाया था। इस दिन सैंकड़ो भारतीय जवान शहीद हुए थे। जिसके चलते सेना हर साल 13 अप्रैल को राजौरी दिवस के रूप में मनाती है। राजौरी में यह दिवस तीन दिन तक मनाया जाता है। वहीं सेना के अधिकारी इस दिन शहीद जवानों को श्रद्धांजलि भी अर्पित करते

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here