इन राज्यों में दिख सकता है भारी बारिश का कहर, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

82

पिछले काफी दिनों से मौसम का मिजाज नरम बना हुआ है। गनग में खामोशी छाई हुई है। लेकिन अगले दो दिनों तक उत्तर और पश्चिमी भारत में मौसम का पूरा हाल मौसम विभाग ने बता दिया है। मैसम विभाग ने कहा कि उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय समेत उत्तर पूर्व के कुछ राज्यों में बुधवार को भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। प्रायद्वीपय भारत के भी कुछ हिस्सों में भी भारी बारिश की संभावना है। उधर, पाकिस्तान और पश्चिमी राजस्थान में भी भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। इसके साथ ही मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, बिहार, तटीय आंध्र प्रदेश, पुडुचेरी के यनम, झारखंड, छत्तीसगढ़, असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा के कई हिस्सों में बादल के गरज के साथ भारी बारिश की संभावना व्यक्त की है।

ये भी पढ़े :मौसम विभाग की भविष्यवाणी से खौफ में ये राज्य, अगले 5 दिनों का हाल जान हुए परेशान

वहीं, आंशिक रूप से पश्चिमी हिस्सों में भी गर्त के बीच उत्तर-पश्चिम भारत और पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र के साथ-साथ हरियाणा, पंंजाब और हरियाणा में भी भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। इसके इतर रायलसीमा, तटीय और दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु सहित प्रायद्वीपीय भारत में अगले तीन-चार दिनों के दौरान भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई  है। वहीं, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में भी भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है।

उधर, विभिन्न राज्यों में भारी बारिश की संभावना को मद्देनजर रखते हुए आईएमडी ने कहा कि जब भी मासनूस का गर्त उत्तर की ओर बढ़ता है। तब एक अभिसरण क्षेत्र चरम दक्षिण प्रायद्वीपीय क्षेत्र में विकसित होता है, जिसके चलते अगले दो दिनों में केरल में भारी बारिश की संभावन व्यक्त की गई है। वहीं, बंगाल की खाड़ी में किसी भी प्रकार के विकास की संभावना नहीं जताई गई है। गौरतलब है कि विगत एक जून से देशभर में 10 फीसद से अधिक बारिश दर्ज की गई है। वहीं, पिछले दिनों के आंकड़ों से पता चला है कि प्रायद्वीप और मध्य भारत में वर्षा 20 फीसदी अधिक बारिश की संभावना हुई है। उत्तर पूर्वी हिस्सों में दो फीसद अधिक भारी दर्ज की गई है। ये भी पढ़े :भारी बारिश से राजधानी दिल्ली का मौसम हुआ गुलजार..जानें देश के अन्य राज्यों का सुरत-ए-हाल