हार्दिक पटेल को थप्पड़ मारने वाले शख्स ने कहा, क्या हार्दिक गुजरात का हिटलर है ?

0
68
Loading...

पाटीदार अनामत आंदोलन के युवा नेता हार्दिक पटेल शुक्रवार को जब सुरेंद्रनगर में जनसभा को संबोधित कर रहे थे, उस दौरान एक शख्स एकाएक मंच पर चढ़ गया और इससे पहले की हार्दिक कुछ समझ पाते, उस शख्स ने हार्दिक को थप्पड़ मार दिया। वहीं, थप्पड़ मारने वाले शख्स का नाम तरूण गज्जर बताया जा रहा है। हार्दिक को थप्पड़ मारने के कारण उनके समर्थकों ने तरूण गज्जर की जमकर पिटाई की। हालांकि, हार्दिक ने उसे बचाने का पूरा-पूरा प्रयास किया, लेकिन उनके समर्थक उस पर काफी हावी हो चुके थे। इतना ही नहीं, उसके कपड़े तक फाड़ दिए गए। उसे इतनी बुरी तरीके से पीटा गया कि अंत में उसकी हालत इतनी खराब हो गई कि उसे अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा।

इसके साथ ही उसने अस्पताल से अपना बयान जारी किया और इस बात का खुलासा किया कि आखिर उसने हार्दिक को क्यों थप्पड़ मारा था। उसने कहा कि जब हार्दिक ने पूरे पाटीदार समुदाय को आरक्षण देने के बाबत पूरे प्रदेश में बंद का आह्वान किया हुआ था। उस दौरान मेरी पत्नी गर्भवती थी और मुझे इस आंदोलन के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। जिस कारण, मुझे इस शख्स पर काफी गुस्सा आ रहा था।

इनता ही नहीं, इसके बाद भी इसने अपने इस सिलसिले को नहीं रोका। एक मर्तबा फिर से इस व्यक्ति ने पूरे गुजरात को बंद करवा दिया। गजब की बात तो ये रही कि पूरा गुजरात भी इसकी बात को मानने के लिए तैयार हो जाता रहा है। वो है क्या। क्या वो गुजरात का हिटलर है कि जो वो कहेगा, उसकी सब मानेंगे। उस दिन मुझे मेरी पत्नी के लिए दवा लेनी थी, लेकिन इस व्यक्ति के बंद बुलाए जाने के कारण मुझे दवा नहीं मिल पाई। इसके बाद मैंने तय किया कि मैं इसे जरूर मारूंगा।

गौरतलब है कि विगत वर्ष हार्दिक पटेल पाटीदार समुदाय के लोगों को आरक्षण दिलाने के बाबत लगातार आंदोलनरत थे, जिस कारण उन्होंने और उनके समर्थकों ने कई मर्तबा गुजरात में बंद का आह्वान किया और लगातार केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलनरत रहे। वहीं, बीते दिनों ये खबर भी आ रही थी कि वे कांग्रेस की टिकट से चुनाव लडने जा रहे है, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी, क्योंकि उनके ऊपर बीजेपी विधायक के दफ्तर में तोड़फोड़ व दंगा फसाद करने का आरोप है। लिहाजा, उन्हें कोर्ट ने चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं दी।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here