त्योहारों को देखते हुए सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, 30 नवंबर तक रहेगी लागू

86
Government guidelines till 30 November

त्योहारों के सीजन को देखते हुए केंद्र सरकार ने 30 नवंबर तक कंटेनमेंट जोन (containment zone) में लॉकडाउन (Lockdown) सख्ती से लागू कराने का आदेश दिया है. साथ ही सिनेमा हॉल, थियेटर और मल्टीप्लेक्स में 50 फीसदी लोगों के साथ खोलने की अनुमति देने के बारे में मौजूदा दिशा-निर्देश निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर वाले इलाकों में 30 नवंबर तक लागू रहेंगे. मंगलवार को गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि unlock 5.0 की गाइडलाइंस की अवधि एक आदेश में 30 नवंबर तक बढ़ा दी गई है. तो आइए जानते हैं कि आपको 30 नवंबर तक किन चीजों पर छूट मिलेगी और किन चीजों पर पाबंदी जारी रहेगी.

30 नवंबर तक किन चीजों पर जारी रहेगी पाबंदी

  • सरकार के दिशा-निर्देशों में कहा गया कि, केंद्र की मंजूरी को छोड़कर अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर पांबदी रहेगी जबकि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को चरणबद्ध तरीके से स्कूलों और कोचिंग संस्थानों को खोलने पर फैसला करने की अनुमति दी गई है.
  • दिशा-निर्देश की मानें तो स्थिति को देखते हुए और कुछ शर्तों के साथ स्कूल खोले जा सकेंगे. स्कूल आने के लिए छात्रों पर दबाव नहीं डाला जाएगा और माता-पिता की लिखित परमिशन जरूरी होगी.
  • कंटेनमेंट जोन वाले इलाके को छोड़कर सिनेमा, थिएटर और मल्टीप्लेक्स, व्यापार प्रदर्शनी, खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के लिए स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क और इसी तरह के स्थानों पर गतिविधियों की अनुमति दी गयी है. लेकिन सिर्फ 50 फीसदी लोगों के साथ.
  • इस संबंध में अलग-अलग मंत्रालयों और विभागों द्वारा गतिविधियों को शुरू करने के लिए एसओपी जारी की गई है. जिनका पालन करना अनिवार्य है.

चुनाव के लिए दिशा-निर्देश
बिहार चुनाव की तारीख नजदीक है ऐसे में सरकार ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं. जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके.

  • चुनावी राज्य बिहार और उपचुनाव वाले निर्वाचन क्षेत्रों में राजनीतिक जमावड़े में बंद जगहों या हॉल में अधिकतम 200 लोगों को ही इकट्ठा होने की परमिशन होगी.
  • कंटेनमेंट जोन वाले इलाकों में राजनीतिक सभा आयोजित नहीं की जाएगी. इसके अलावा अन्य इलाकों में नियमों को ध्यान में रखते हुए सभा आयोजित हो सकेगी.

बता दें, देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए वैसे तो सरकार द्वारा कई अहम कदम उठाए गए हैं और अब कोरोना के मामलों में कमी भी देखने को मिल रही है.

ये भी पढ़ेंः-