gadkari

रतलाम। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे पर काम का निरीक्षण केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने खुद रतलाम में कियां इस दौरान उन्होंने हाईवे पर कार को दौड़वाकर भी देखा, जिसकी स्पीड 150 से भी ऊपर चली गई थी। हाइवे पर कार का वीडियो सामने आया है जो वायरल हो रहा है। गडकरी ने पहले हेलीकॉप्टर से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे का निरीक्षण किया फिर खुद कार में सवार होकर इसका टेस्ट किया। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी फिलहाल दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे के काम का जायजा ले रहे हैं। निरीक्षण के लिए वह मध्य प्रदेश भी गए थे। यहां रतलाम जिले के जावरा में निर्माणाधीन दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का उन्होंने निरीक्षण किया। एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता और कार्य की गति देखने आए गडकरी ने हेलीकॉप्टर से इलाका देखा। भुतेड़ा से करीब 150 KM से ऊपर की स्पीड से वाहन चलवाकर एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता को जांचा।

टेस्ट ड्राइव के बाद नितिन गडकरी ने कहा कि हमने पहले ही निर्माण में लगी कंपनी को गुणवत्ता बेहतर रखने की हिदायत दे दी थी। गति परीक्षण सफल रहां इस एक्सप्रेस-वे पर 120 की स्पीड प्रस्तावित रह सकती है। माना जा रहा है कि यह एक्सप्रेस वे बहुत मानक के अनुरूप होगा। 45 मिनट से ज्यादा चले निरीक्षण के दौरान गडकरी के साथ सांसद गुमानसिंह डामोर, अनिल फिरोजिया और सुधीर गुप्ता व रतलाम जिले के विधायक चेतन्य कश्यप, डॉ. राजेन्द्र पांडेय सहित अन्य मौजूद रहे। ज्ञात हो कि एक्सप्रेस-वे मध्य प्रदेश के तीन जिलों से गुजर रहा है। मध्य प्रदेश में इसकी लंबाई 245 किलोमीटर है। रतलाम, मंदसौर एवं झाबुआ जिले से होकर गुजरेगा। नवंबर 2022 तक इसका काम पूरा हो सकता है। पहले चरण में 8 लेन और इसके बाद 12 लेन तक सड़क का निर्माण प्रस्तावित है।

भरूच में भी किया निरीक्षण

गडकरी ने गुजरात के भरूच में भी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने स्थान का भी निरीक्षण किया जहां फरवरी 2021 में एक दिन में सबसे तेज सड़क निर्माण का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना था। गुजरात में 35,100 करोड़ रुपए की लागत से 423 किमी सड़क का निर्माण हो रहा है। इस एक्सप्रेस-वे के अंतर्गत राज्य में 60 मेजर ब्रिज, 17 इंटरचेंज, 17 फ्लाइओवर और 8 आरओबी भी बनेंगे।

यह भी पढ़ेंः-यमुना एक्सप्रेस वे के समानांतर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन, चार घंटे में ऐसे पहुंच जाएंगे दिल्ली से वाराणसी