कोरोना को पस्त करने के लिए तैयार भारत, अब ‘फेलूदा’ की एंट्री से खिले कोरोना मरीजों के चेहरे

35

अपने चरम पर पहुंच चुके कोरोना के खौफ के बीच अब सरकार मुस्तैद हो चुकी है। लगातार बढ़ती संक्रमितों की संख्या के मद्देनजर अब नई-नई तकनीक सामने आ रही है। इस बीच अब कोरोना के खिलाफ जंग के बीच ‘फेलूदा’ भी आने के लिए तैयार हो चुकी है। बहुत जल्द ही.. अब यह टेस्ट स्टिप बाजार में दस्तक देने के लिए तैयार हो चुकी है।  माना जा रहा ह कि कोरोना के खिलाफ जंग में यह भारत के लिए संजीवनी साबित हो सकती है।

मिल चुकी है मंजूरी 
बता दें कि अब इसे बाजार में उतारने के लिए पूरी तरह से मंजूरी दी जा चुकी है। बाजार में आने पर अमादा हो चुके फेलुदा पर ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India) ने पिछले महीने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के गुणवत्ता बेंचमार्क को पूरा करने के बाद अब इस फेलूदा को मंजूरी दी गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बात 
वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन भी अब फेलूदा को बाजार में उतारने पर अमादा हो चुके हैं। पूर्व में उन्होंने इसे ओर संकेत करते हुए कहा था कि यह बहुत जल्द ही बाजार में उपलब्ध होने के लिए तैयार है। वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के युवा वैज्ञानिकों की एक टीम तैयार की गई है, जो बहुत जल्द इस संदर्भ में परिणाम को प्राप्त करेगी। मगर, मौजूदा समय में परिणाम को प्राप्त करने में 4 से 5 घंटे का समय लगता है, मगर फेलूदा के आने के बाद ऐसा नहीं होगा।  सीएसआईआर के महानिदेशक शेखर सी मांडे  कहते हैं कि  बाजार में फेलूदा के आने जाने से टेस्ट में लगने वाला समय बचेगा। बताया जाता है कि इससे महज 30 मिनट के अंदर ही परिणाम प्राप्त हो जाएंगे।

सीएसआईआर के महानिदेशक कहते हैं कि इस किट के जरिए गांव देहातों में कोरोना के टेस्ट किए जाएंगे। इससे टेस्ट करने में समय भी कम लगेगा, जो कि वर्तमान में इस्तेमाल हो रहे आरटी पीसीआर से संभव नहीं है। फेलूदा की सबसे बड़ी खासियत है कि इससे सटीक परिणाम बेहद कम समय में ही प्राप्त किए जा सकते हैं, जो कि आरटी पीसीआर से संभव नहीं है। ये भी पढ़े :कोरोना वायरस पर किम जोंग उन ने दिया ऐसा अजीबोगरीब बयान, चीन ने भी दिया समर्थन