नवरात्रि में मीट की दुकानें बंद करने की हो रही मांग पर बोले NDMC के डिप्टी मेयर

अब एक बार फिर से नई दिल्ली नगर निगम (NDMC) के डिप्टी मेयर राजेश लवारिया (Rajesh Lawaria)ने इस मुद्दे पर बयान दिया है।

0
220
meat shops

नवरात्रि के समय दिल्ली में मीट की दुकानें बंद रखने के आदेश पर काफी हंगामा हुआ। अब एक बार फिर से नई दिल्ली नगर निगम (NDMC) के डिप्टी मेयर राजेश लवारिया (Rajesh Lawaria)ने इस मुद्दे पर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि नवरात्रि के दौरान दिल्ली में सभी मीट दुकानें बंद होनी चाहिए। इसी के साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए मैं आग्रह करता हूं कि सभी मीट की दुकानें बंद हो जाए।

इसी बीच पूर्वी दिल्ली नगर निगम के मेयर श्याम सुंदर अग्रवाल ने बिजली अपने क्षेत्र में गाजीपुर बूचड़खाना का निरीक्षण किया जो कि नवरात्रि के आखिरी 3 दिन 8 से 10 अप्रैल तक बंद रखने का निर्देश दिया है। मेयर के कार्यालय ने एक बयान में कहा कि यह एक औचक निरीक्षण था।

24 दिन बंद रहता था बूचड़खाना

उन्होंने बताया की बूचड़खाना 3 दिनों के लिए बंद करना एक वार्षिक कार्य है। इस बयान में उनके कार्यालय ने कहा कि बूचड़खाना विभिन्न त्योहारों के जुड़े लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए 1 साल में 24 दिन बंद किया जाता है।

इन अवसरों में गुरु नानक जयंती, गुरु गोविंद सिंह जयंती, रविदास जयंती, दिवाली, नवरात्र के अंतिम तीन दिन ,रामनवमी तीन राष्ट्रीय अवकाश शामिल हैं।अग्रवाल ने यह भी कहा कि आदेश का उल्लंघन करने वाले मालिकों के खिलाफ कार्यवाई भी की जाएगी।

मेयर का दावा

उन्होंने मंगलवार को कारोबारियों को ये बोल कर एक विवाद छेड़ दिया था कि नवरात्रि या कम से कम इस त्योहार के आखिरी तीन दिन मांस दुकानें बंद रखी जाए, जबकि अधिकारियों ने ये भी कहा कि इस सिलसिले में कोई आधिकारिक आदेश जारी नहीं किया . अग्रवाल ने यह भी दावा किया था कि नवरात्रि के समय में 90 प्रतिशत लोग मांसाहारी भोजन नहीं करते हैं.

इसे भी पढ़ें-‘दसवीं’ फिल्म देख के बॉलीवुड एक्टर ने कुमार विश्वास को कहा- कवि हो कविता लिखो