अरविंद केजरीवाल के लिए कैसे रहेंगे 5 साल? ज्योतिषी ने दिए ये बड़े संकेत 

496

दिल्ली का सियासी दुर्ग अब केजरीवाल अपने नाम कर चुके हैं। ऐसी स्थिति में इस बात की चर्चा अपने चरम पर है कि आखिर आगामी पांच साल केजरीवाल के लिए कैसे रहेंगे? क्या जिन मुद्दों के सहारे वे राजधानी के सियासी सिंहासन पर विराजमान हुएं हैं। उन मुद्दों को पूरा करने में वे कामयाब हो पाएंगे? क्या वे जनता की अपेक्षाओं को पूरा कर पाएंगे? गौरतलब अरविंद केजरीवाल को राजधानी की जनता-जनार्दन ने एक मर्तबा फिर से 62 सीटों की सौगात के साथ दिल्ली की सिंहासन पर विराजमान किया है। अब ऐसे में वे दिल्ली की जनता की मांगों व उनकी अपेक्षाओं को पूरा करने में कहां तक  कामयाब हो पाते हैं… ये तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा, मगर आने वाले वक्त से पहले केजरीवाल के पांच साल कैसे रहेंगे, बताने जा रहे हैं ज्योतिषी आचार्य भूषण कौशल.. ये भी पढ़े :अरविंद केजरीवाल करेंगे राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने का समर्थन, बशर्ते

उल्लखेनीय है कि चुनाव से पूर्व भी ज्योतिष बिरादरी इस बात का कयास लगाने में मशगूल था कि क्या अरविंद केजरीवाल दिल्ली की सत्ता पर विराजमान हो पाएंगे और अब जब वे सत्ता पर काबिज हो चुके हैं तो इस बात की चर्चा अपने चरम पर है कि क्या वे दिल्ली की जनता की अपेक्षाओं को पूरा करेंगे। इसी क्रम में आचार्य भूषण कौशल बता रहे हैं कि केजरीवाल की लग्न में गुरू की महादशा चल रही है। अगर 2020 में गुरू की महादशा शुरू हो जाएगी। केजरीवाल की कुंडली मेष लग्न है और शनि मकर राशि में बैठे हुए हैं। इसके मुताबिक, तो शनि एकदम केंद्र में हैं। केंद्र में रहते हुए वे जनता का भरोसा जीतने में कामयाब हो पाएंगे, जैस की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ हुआ भी है।

इसे संयोग ही कहेंगे कि उनकी कुंडली की केंद्र में शनि था। ऐसे में उनका राजनीति में उदय होना निश्चिय है। अभी केजरीवाल के लग्न मेष लग्न में नीच का शनि है। मंगल और गुरू नवम  भाव और धनु राशि में है। और मंगल राशि में इनका राजनैतिक करियर को चार चांद लगाते हुए नजर आ रहा है। अब कुल मिलाकर, जो निष्कर्ष सामने आ रहा है। उसके मुताबिक, केजरीवाल के लिए आने वाले पांच साल बेहतरीन होने वाले हैं। उनकी कुंडली के मुताबिक,  वे क्षेत्र की राजनीति में भी रूख कर सकते हैं। उनकी कुंडली के मुताबिक, उनकी लोकप्रियता में इजाफा न महज देश अपितु विदेशों  में भी होने जा रहा है। उनकी लोकप्रियता में खासा इजाफा आगामी दिनों को देखने को मिल सकता है। पार्टी का नेतृत्व भी पहले से ज्यादा अच्छा हो पाएगा। दश्म भाग में  बैठे केजरीवाल उनकी राजनीति में को खासा फायदा पहुंचाते हुए नजर आ रहे हैं। ये भी पढ़े :अरविंद केजरीवाल को बीजेपी ने दी खुली चेतावनी, AAP में मचा घमासान