कोरोना काल में बदल गए वर्षों पुराने नियम, अब दिल्ली मेट्रो में ऐसे करना होगा सफर

48

दिल्लीवासियों की लाइफलाइन बन चुकी दिल्ली मेट्रो के बिना आज दिल्लीवासियों के जिंदगी के वजूद की कल्पना करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है, लेकिन ऐसे में जब कोरोना काल में हमें चौतरफा वीरानगी का बसेरा दिखा है तो फिर भला दिल्ली मेट्रो कैसे अछूता रहता, लिहाजा पिछले 25 मार्च से दिल्ली मेट्रो का संचालन बंद है, लेकिन अब जब राजधानी में लगातार हालात दुरूस्त हो रहे हैं। लोगों का आर्थिक जीवन पटरी पर आता जा रहा है। सभी काम धंधे अब आहिस्ता-आहिस्ता शुरू हो रहे हैं। उधर, यदि परिवहन सेवाओं की बात करें तो राजधानी की सड़कों पर बसों से लेकर दोपहियां वाहन तक पूरी एहतियात के साथ आवाजाही करते हुए नजर आ रहे हैं। ऐसे में अब लोगों के जेहन में यह सवाल कौंंध रहा है कि आखिर मेट्रो का संचालन कब शुरू होगा, जिसका कि जवाब अब सबको मिल चुका है। ये भी पढ़े :

माना जा रहा है कि आगामी 1 सितंबर से दिल्ली मेट्रों की सेवाएं शुरू की जा सकती है, लेकिन अब आपके लिए मेट्रो में सफर करना पहले जैसा नहीं होगा। कोरोना काल के पूर्व और कोरोना काल के बाद में मेट्रो में सफर करने के नियमों काफी कुछ बदल गए हैं। हम आपको एक-एक करके उन नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं। मसलन, पहले मेट्रो स्टेशन पर आपको टोकन लेने की सुविधा मिल जाती है, लेकिन अब कोरोना वायरस के मद्देनजर इस नियम को बदल दिया गया है।

अब आप महज कार्ड से ही सफर कर सकते हैं। वहीं, कार्ड भी कैश नहीं बल्कि कैशलेश तरीके से रिचार्ज करना होगा। सीआईएसएफ कर्मियों को अनवरत प्रशिक्षित किया जा रहा है कि आखिर उन्हें यात्रियों को चेकिंग कैसे करनी है तथा अन्य सभी कर्मियों को लगातार अन्य सभी कामों के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है, ताकि एक साथ मिलकर इस जंग में फतह पा सके। हालांकि टोकन प्राप्त करने के लिए टिकट वेडिंग मशीन पर विचार किया जा रहा है। इसके अलावा पार्किंग और फीडर सेवा को भी शुरू करने क लिए विचार किया जा रहा है। मालूम हो कि कोरोना काल में लगातार लोग डीएमआरसी के ट्विटर हैंडल पर मेट्रो संचालन की मांग कर रहे हैं। डीएमआरसी का कहना है कि हम संचालन के लिए पूरी तरह से तैयार है। अब ऐसे में माना जा रहा है कि आगामी एक सितंबर से दिल्ली मेट्रो का संचालन शुरू किया जा सकता है।

ये भी पढ़े :इस दिन शुरू हो रही हैं दिल्ली मेट्रो की सेवाएं, जल्द जारी होंगी केंद्र की गाइडलाइंस