अगर ऐसा न हुआ होता तो दहल जाती दिल्ली..पढ़िए इन दरिंदों का खौफनाक खुलासा 

77

दहल जाती यह दिल्ली अगर यह तीन दरिंदे न हुए होते गिरफ्तार। तबाह हो जाते वो आशियाने जो आज हमारे और आपके लिए महफूज ठिकाना बने हैं। यह दरिंदे उन गुलिस्तांओं को खाक करने की तैयारी में थे, जिनके चमन की खुशबू सूंघ आज हमारे बच्चे बड़े हो रहे हैं। यह दरिंदें उन गलियों से आग और धूएं की बयार बहाने की तैयारी में जुटे थे, जहां से पकवानों की खुशबू की बयार बहती है, लेकिन दिल से सलाम हमारे दिल्ली पुलिस को जिन्होंने वक्त से पहले ही इनके नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया। अब यह तीनों ही दरिंदे पुलिस की गिरफ्त में हैं।

उक्त बातें हमारे परिकल्पना का आधार नहीं अपितु इन दरिंदों के जुबां की वो भयावह तस्वीरें हैं, जिन्हें हमने शब्दों में तब्दील कर आप तक पहुंचाया है। यह उन्हीं दरिंदों का इकबालिया बयान है, जिसमें उन्होंने कहा कि वो अगस्त महीने में राजधानी दिल्ली के कई इलाकों को बम से उड़ाने की तैयारी में थे और इनके इस इकबालिया बयान की तस्दीक उस वक्त हुई जब इनके पास गोला बारूद सहित  अन्य हथियार बरामद हुए।

यहां पर हम आपको बताते चले अभी तक पुलिस ने तीन दरिंदों को गिरफ्तार किया है। पहली मर्तबा दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने धौला कुआं मुठभेड़ के दौरान मुस्तकीम को गिरफ्तार किया था। इसके बाद गोला बारूद सहित अन्य हथियार भी बरामद किया गया था। यह करोलबाग सहित दिल्ली के कई भीड़भाड़ वाले इलाकों को बम से उड़ाने का प्लान बना रहा था। वहीं इसके बाद 30 अगस्त को जीटी करनाल रोड से इंदरजीत सिंह और जसपाल सिंह को गिरफ्तार किया गया। इन दोनों ने गत 14 अगस्त को मोगा पुलिस आयुक्त कार्यालय पर खालिस्तान का झंडा फहराया था। जिसके बाद से यह गिरफ्तार किया गया है।

यह सिलसिला यहीं खत्म नहीं हुआ..इसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सोमवार को मुठभेड़ के दौरान बब्‍बर खालसा इंटरनेशनल के दो आतंकियों भूपेंद्र उर्फ दिलावर सिंह और कुलवंत सिंह को गिरफ्तार किया है। पश्चिमी दिल्ली में हुई फायरिंग के बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार किया है। इनके पास से छह पिस्‍टल और 40 कार्ट्रिज मिली बरामद हुई हैं। ये भी पढ़े :दिल्ली समेत इन 5 राज्यों में फूटा कोरोना बम, 62% मरीजों को साथ मौतों में भी रिकॉर्ड इजाफा