नई दिल्ली(new delhi)मयूर विहार एक्सटेंशन मेट्रो स्टेशन(Mayur Vihar Extension Metro Station) पर एक बड़ा हादसा होते होते टल गया. दरअसल शुक्रवार सुबह सीआईएसएफ(CISF) के जवानों ने CCTV कैमरे में देखा कि एक महिला प्लेटफार्म से उतरकर ट्रैक की ओर जा रही है और उस ट्रैक पर ट्रेन आ रही थी. इसके बाद सीआईएसएफ(CISF) के जवानों ने फौरन ट्रेन चालक को सूचना देकर ट्रेन रुकवाई. जिससे महिला की जान बाल-बाल बची।

बता दें बीते शुक्रवार को मेट्रो के सामने खुदकुशी करने जा रही एक बुजुर्ग महिला को सीआईएसएफ (CISF) के जवानों ने बचा लिया. हैरानी की बात ये रही कि ट्रेन रुकने के बाद भी महिला नहीं रुकी और ट्रेन के रुकने के बाद भी डिब्बे के नीचे ट्रैक पर लेट गई. हालांकि उस महिला को जवानों ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया और पूछताछ की. पूछताछ में महिला ने बताया कि घरेलू कलह की वजह से वह खुदकुशी(suicide) करने जा रही थी. जवानों ने महिला की उसके बेटे से बात करवाई और महिला को मेट्रो पुलिस के हवाले कर दिया गया.

सीआइएसएफ जवानों ने बचाई महिला की जान।

वहीं महिला की जान बचाने के बाद CISF अधिकारियों ने जवानों की सूझबूझ की जमकर तारीफ की और बताया कि सीआईएसएफ कर्मियों की सतर्कता और त्वरित कार्रवाई से एक अनमोल जीवन बचा लिया गया.

सीआईएसएफ के मुताबिक शुक्रवार सुबह करीब 8:45 बजे मयूर विहार एक्सटेंशन मेट्रो स्टेशन पर सिपाही दमारापू CCTV ऑब्जर्वर के तौर पर काम कर रहा था. उसने देखा कि एक बुजुर्ग महिला प्लेटफॉर्म नंबर 2 के अंतिम कोने की ओर बढ़ रही है तो वह सीसीटीवी कैमरे के जरिए महिला यात्री पर निगरानी रखने लगा. फिर जब उसने देखा कि महिला प्लेटफॉर्म से नीचे उतर कर खुदकुशी के इरादे से ट्रैक पर सो गई है तो सिपाही ने तुरंत इसकी सूचना अपने अधिकारियों के साथ-साथ स्टेशन कंट्रोलर को दी.

सूचना मिलते ही शिफ्ट इंचार्ज देवेंद्र कुमार और स्टेशन कंट्रोलर प्लेटफॉर्म पर पहुंचे और ट्रेन चालक को मामले की जानकारी दी. जिसके बाद समय रहते चालक ने ट्रेन को रोक दिया. जिससे महिला की जान बचाई जा सकी. महिला की उम्र 70 साल है और वह हरियाणा(hariyana) के भिवानी की रहने वाली है. उसने अपने बेटे रविंदर कुमार का मोबाइल नंबर दिया. जिसपर सीआईएसएफ अधिकारियों ने बात की और उसे घटना की जानकारी दी. सीआईएसएफ जवानों ने घटना की जानकारी यमुना बैंक मेट्रो थाने को दी और महिला को उनके हवाले कर दिया.

इसे भी पढ़ें-ड्रग्स केस में एनसीबी ने 19वें आरोपी को किया गिरफ्तार, अरबाज मर्चेंट का बताया गया सप्लायर