भारत में इस महीने तक आ जाएगी कोरोना वैक्सीन, CM ने PM को सुनाई बड़ी खुशखबरी

0
6072
covid-19-vaccine

कोरोना वायरस (corona virus) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए भारत में लॉकडाउन (lockdown) बढ़ाने पर चर्चा चल रही है. ऐसी खबरें सामने आ रही हैं कि, केंद्र सरकार 17 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ा सकती है. क्योंकि, कोरोना के मामलों में काफी तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. ऐसे में सरकार संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बड़ा कदम उठा सकती है. इसी बीच तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (CM K Chandrasekhar rao) का कहना है कि, भारत में बहुत जल्द कोरोना (covid 19) को मात देने वाली वैक्सीन बनकर तैयार हो सकती है.

भारत में अगस्त तक वैक्सीन
तेलंगाना के सीएम ने सोमवार को ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से कहा है कि, भारत में जुलाई-अगस्त के बीच कोविड-19 की वैक्सीन (corona vaccine) बनकर तैयार हो सकती है. इस बात की जानकारी उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बातचीत में दी.

हैदराबाद में कंपनियां काफी मेहनत
वैक्सीन के बारे में मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी हुई विज्ञप्ति के मुताबिक, ‘कोरोना को मात देने के लिए वैक्सीन पर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं हैदराबाद में कंपनियां इसके लिए खूब मेहनत कर रही हैं. संभावना है कि, भारत में ही जुलाई-अगस्त के बीच वैक्सीन बनकर तैयार हो सकती है. अगर ऐसा हो जाता है तो इससे परिस्थिति काफी हद तक काबू में कर ली जाएगी.’ corona vaccineमालूम हो कि, सीएम राव के द्वारा जानकारी देने से पहले भारत बायोटेक ने उन्हें जानकारी देते हुए बताया कि, वैक्सीन का काम जारी है. इसके लिए अन्य कंपनियां भी जुटी हुई हैं और दिन-रात वैक्सीन पर काम किया जा रहा है.

ट्रेन संचालन का विरोध
सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन और कोरोना स्थिति का जायजा लेने के लिए सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी. इस दौरान कुछ मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने की भी मांग की. वहीं सीएम राव ने ट्रेनों के संचालन का विरोध करते हुए पीएम से इस अनुरोध किया कि, इस पर रोक लगाई जाए. क्योंकि, इससे संक्रमण फैलने का खतरा है. ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों में से कुछ कोरोना संक्रमित हो सकते हैं या उनमें लक्षण हो सकते हैं. अगर ऐसा होता है तो इससे संक्रमण फैलने लगेगा.

सबसे ज्यादा इन शहरों में संक्रमण
कोरोना वायरस का कहर सबसे ज्यादा देश की राजधानी दिल्ली, महानगर मुंबई, चेन्नई और हैदराबाद जैसे शहरों में देखने को मिला है. संक्रमित मरीजों की संख्या इन्हीं शहरों में सबसे अधिक है. ऐसे में अगर लोग अपना स्थान बदलेंगे तो वो इलाके भी संक्रमित हो सकते हैं जहां पहले से कोरोना नहीं है.

ये भी पढ़ेंः- भारत की बड़ी सफलता, एंटीबॉडी टेस्ट के लिए तैयार हुई Elisa किट, स्वास्थ्य मंत्री ने किया ऐलान