भारत में कोरोना वायरस का आतंक जारी, आज सामने आए नए 25 मामले, मरीजों की संख्या में दोगुना इजाफा

0
710
Corona virus

कोरोना वायरस का बढ़ता खतरा अब दुनियाभर के लिए सिरदर्दी बन चुका है. हर दिन हजारों केस और मौत की लगातार बढ़ती संख्या आम नागरिकों के बीच डर का माहौल पैदा कर रही है. ऐसे में भारत में भी कोरोना का दस्तक तेजी से लोगों को अपना शिकार बनाने में लगा है, इसी के चलते फिरोजपुर रेलवे मंडल द्वारा हिमाचल प्रदेश में सभी पर्यटकों के प्रवेश पर रोक लगाने के साथ ही कांगड़ा घाटी में 14 ट्रेनों को पूरी तरह से रद्द कर दिया है. इस बात की पुष्टि रेलवे के एक प्रवक्ता ने करते हुए कहा कि कांगड़ा घाटी (पठानकोट-जोगिंदरनगर) में सभी ट्रेन सेवाओं को अगले आदेश तक आधी रात से रद्द कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें:- कोरोना का कहर: PM मोदी के संबोधन से पहले लोगों में खौफ का महौल, जानें क्या है वजह

हालांकि इससे पहले यानी गुरुवार की शाम जिला उपायुक्त राकेश प्रजापति का भी बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने कहा था किम कोविड-19 के बढ़ते आतंक को रोकने के लिए अगले आदेश तक आधी रात के बाद पंजाब से कांगड़ा जिले तक की सभी ट्रेनें रद्द ही रहेंगी. इसी बीच रेटिंग एजेंसी ‘फिच’ द्वारा कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को 5.6 प्रतिशत से घटाकर 5.1 प्रतिशत कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें:- देश को कोरोना से बचाएंगी राखी सावंत, इस एक्ट्रेस ने वायरस फैलने का ठहराया जिम्मेदार

200 हुई कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब तक भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 200 तक पहुंच गई है. चौंकाने वाली बात तो ये है कि सिर्फ आज कोरोना से संक्रमित 25 मामले नए सामने आए हैं. बीमार होने वालों में 163 मरीज भारतीय हैं जबकि 32 मरीज विदेशी हैं. इसके अलावा अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना के ये आंकड़े शुक्रवार सुबह नौ बजे तक के हैं.

ये भी पढ़ें:- खुशखबरी: कोरोना के मरीजों पर असर दिखा रही यह दवा, कंपनी के शेयर भी बढ़े 

अलग-अलग समय पर दफ्तर पहुंचेंगे केंद्रीय कर्मचारी
जानकारी के मुताबिक कोरोनो के कहर को देखते हुए केंद्र सरकार नेसिर्फ 50 फीसदी कर्मचारियों को ही दफ्तर आने की इजाजत दी है. इसके साथ ही इन सभी कर्मचारियों के आने का समय भी अलग-अलग कर दिया है. ताकि एक समय में ज्यादा भीड़ जमा न हो.

ये भी पढ़ें:- कोरोना वायरस की अफवाहों पर वैज्ञानिकों ने लगाया विराम, रिपोर्ट से सामने आई असल वजह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here