Categories
देश

24 घंटे में कोरोना के मिले 2.64 लाख संक्रमित, UN ने भारत के लिए जारी की चेतावनी

नई दिल्ली। कोरोना का कहर देश में लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ओमिक्रॉन की भयावहता भी तेज हो गयी है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2.64 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। कोरोना से 315 संक्रमितों की मौत हुई है। कोरोना के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट को हल्के लक्षण और कम गंभीर बताया जा रहा है लेकिन संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट ने भारत के लिए डराने वाली चेतावनी जारी की है। संयुक्त राष्ट्र की वर्ल्ड इकोनॉमिक सिचुएशन एंड प्रोस्पेक्ट्स 2022 रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि जैसा कहर भारत ने दूसरी लहर में तबाही मची थी, वैसी ही स्थिति फिर आ सकती है।

संयुक्त राष्ट्र ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि दूसरी लहर के दौरान अप्रैल से जून के बीच डेल्टा वैरिएंट की वजह से भारत में 2.40 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। कोरोना से अर्थव्यवस्था में रुकावट आई थी जिसका असर अब भी कायम है। रिपोर्ट में चेतावनी देते हुए कहा गया है कि ऐसी ही स्थिति भारत में जल्द ही पैदा हो सकती है। हालांकि इस रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया है कि ऐसी स्थिति ओमिक्रॉन की वजह से ही होगी। अगर दूसरी लहर जैसी स्थिति बनी तो कितनी मौतें होने का अनुमान है। बताया जा रहा है कि कोरोना के मामले बढ़ने के साथ ही स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी दबाव बढ़ेगा। ऐसे में दूसरी लहर जैसी स्थिति का फिर सामना करना पड़ सकता है।

भारतीय अर्थव्यवस्था की ऐसी होगी स्थिति

वैक्सीनेशन में तेजी और कम प्रतिबंधों के कारण भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत रास्ते पर है। 2022 में जीडीपी ग्रोथ में गिरावट आ सकती है। 2021 में भारत की जीडीपी 9 फीसदी तक बढ़ी थी। 2022 में भारत की अर्थव्यवस्था में 6.7 फीसदी की ग्रोथ होने का अनुमान है।
बताया गया है कि दक्षिण एशिया में भारत ही इकलौता ऐसा देश होगा जहां अर्थव्यस्था सबसे ज्यादा ग्रोथ करेगी। भारत के बाद बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था 6 फीसदी तक बढ़ने का अनुमान है। पाकिस्तान की जीडीपी में 3.9 फीसदी ग्रोथ हो सकती है।

यूएन की इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि 2008-09 के ग्लोबल फाइनेंशियल क्राइसिस की तुलना में भारत आज ज्यादा मजबूत स्थिति में है। भारत में जल्द ही गरीबी भी कम हो सकती है। वर्तमान मंे लोग इस संकट से जुझ रहे हैं।

यह भी पढ़ेंःमकर संक्रांति पर कोरोना संकट, हरिद्वार में प्रतिबंध तो प्रयागराज और गंगासागर में भक्त लगा रहे आस्था की डुबकी