जम्मू-कश्मीर में 250 आतंकियों के घुसे होने की पुख्ता जानकारी, सेना ने इस तरह मारने का बनाया बड़ा प्लान

0
342
Indian Army

घाटी से धारा 370 हटाने के बाद से ही आतंकी यहां की अमन-शांति में खलल डालने की कोशिश में लगे हुए हैं. लेकिन अफसोस कि उनके हर नापाक मंसूबों को भारतीय सैनिक मुंहतोड़ जवाब दे रहे है. ऐसे में सूत्रों की माने तो जम्मू-कश्मीर में 250 पाकिस्तानी आतंकी के घुसे होने की जानकारी मिल रही है. लेकिन बताया ये भी जा रही है, कि ठंड आने की वजह से पूरी घाटी को बर्फ ने पनी मोटी चादर से ढक लिया है, ऐसे में आतंकियों का अब घाटी में घुस पाना मुश्किल हो जाएगा. यानी की पाकिस्तान की हर कोशिश नाकाम होते देखी जाएगी. फिलहाल घाटी में घुसे 250 पाकिस्तानी आतंकियों को मार गिराने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) और गृहमंत्रालय ने मिलकर एक संगीन योजना तैयार की है. जिसमें आतंकियों का खात्मा करने की पूरी रणनीति तैयार है.

घाटी में हालात सामान्य होने के संकेत
बता दें कि जम्मू-कश्मीर को धारा 370 से आजाद करने के बाद से ही वहां के हालात को सामान्य करने के लिए कई प्रयास किए थे. लेकिन अब वहां के लोग खुद पूरे प्रदेश में हालातों को सामन्य देखना चाहते हैं. इसी के चलते हाल ही में घाटी से भारी संख्या में युवा बीएसएफ में भर्ती होने के लिए कैंप में हिस्सा लेने पहुंचे थे. ऐसे में कहा जाता है कि अब वहां का हर युवा आजादी से जीने के लिए तैयार है. यही नहीं बल्कि यहां के कुछ वर्ग के लोगों को छोड़ दें तो बाकि आम लोग और व्यापारी-व्यवसायी भी अब शांति-अमन से यहां रहना चाहते हैं. लेकिन आतंकी यहां के हालातों को सामान्य होने नहीं दे रहे है. यही वजह है कि आए दिन पाकिस्तान यहां घुसपैठ करने की कोशिश में लगा रहता है.

बर्फ बनी पाकिस्तानी आतंकी के रास्ते का रोड़ा
सूत्रों की माने तो इन दिनों घाटी में पाकिस्तानी घुसपैठियों का सिलसिला थम गया है. क्योंकि पूरे कश्मीर में बर्फ जम चुकी है. जिसकी वजह से अब आतंकियों का घाटी में आना मुश्किल होता दिख रहा है. लेकिन फिलहाल अभी भारतीय सैनिकों के लिए सबसे बड़ी समस्या घाटी में घुस चुके वो 250 पाकिस्तानी आतंकी हैं. जो माहौल को कभी भी खराब कर सकते हैं. जिसका डर घाटी के सिर्फ आम लोगों को ही नहीं बल्कि वहां की पंचायत और सिविल चुनावों में जीते उम्मीदवारों को भी है. क्योंकि इनका काम सामान्य तौर पर रूक गया है. जिसके कारण यहां के संचार व्यवस्था में थोड़ी सख्ती बरती जा रही है.

आतंकियों को मारने का प्लान
हालांकि सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान से आए आतंकी ज्यादातर कमांडों ट्रेनिंग के लिए होते हैं. ये आतंकी जंगल में तो रह सकते हैं लेकिन ये बर्फ का सामना नहीं कर सकते हैं. इसलिए वो सामान्य जगह पर रहने के लिए गांव की तरफ आ सकते हैं. यानी कि उनका पीओके के इलाके में जाना लगभग नामुमकिन है. ऐसे में यदि वो गंव की तरफ आने की कोशिश करेंगे तो भारतीय सेना के हाथों मारे जाएंगे.ये भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फेंका ग्रेनेड, 10 लोग घायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here