Tuesday, January 31, 2023

Nirmala Sitharaman On Inflation: महंगाई से जल्द मिलेगी आमजनता को राहत, वित्त मंत्री ने दिया आश्सनवा

सरकार महंगाई पर लगातार नजर लगाकर उसको कम करने के लिए बहुत अहम मुद्दों पर विचार-विमर्श कर रही है और कई सारे गंभीर कदम भी उठा लिए गए हैं।

Must read

- Advertisement -

Nirmala Sitharaman On Inflation: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह आश्वासन दिया है कि सरकार आसमान छू रही महंगाई को अब कम करेगी। इसी के साथ आम लोगों की दिक्कतें भी धीरे धीरे कम हो जाएंगी। वित्त मंत्री ने इस दौरान कहा कि सरकार व जरूरी वस्तुओं की कीमतों पर लगातार अपनी पैनी नजर लगाए हैं और महंगाई में कमी लाने के लिए पूरे प्रयास कर रही है। उन्होंने बोला कि सरकार महंगाई पर लगातार नजर लगाकर उसको कम करने के लिए बहुत अहम मुद्दों पर विचार-विमर्श कर रही है और कई सारे गंभीर कदम भी उठा लिए गए हैं।

कम होगी महंगाई

- Advertisement -

लोकसभा अनुदान की मांग से जुड़े विधायक पर चर्चा हो रही थी, इस दौरान वित्त मंत्री ने महंगाई कम करने के सरकार के प्रयासों के बारे में बात की और बोला की इंट्रीमिनिट्रियल कमिटी हर हफ्ते दालों के बफर स्टॉक और रेट पर बात करती है। मसूर दाल पर इंपोर्ट ड्यूटी को जीरो रखा गया है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने पेट्रोल पर 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी में कमी की है। सरकार के इन कदमों की वजह से खुदरा महंगाई दर का आंकड़ा आरबीआई के टोलरेंस लेवल अंदर ही आ गया है। उन्होंने यह भी बोला कि नवंबर में खुदरा महंगाई दर 5.88 % है। इसी के साथ थोक महंगाई दर भी 21 महीने के सबसे निचले स्तर पर आ गई है।

भारतीय करेंसी मजबूत

वित्त मंत्री ने एक बार फिर से डॉलर के मुकाबले रुपए की कमजोरी पर अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि भारतीय करेंसी दुनिया की बाकी करेंसी के तुलना में सबसे ज्यादा मजबूत है। उन्होंने बोला डॉलर के मुकाबले भारतीय करेंसी ने दुनिया के दूसरे इमर्जिंग देशों की करेंसी के मुकाबले सबसे बढ़िया प्रदर्शन किया है।

एनपीए पर भी वित्त मंत्री ने अपना पक्ष रखा। उन्होंने बोला सरकार की कोशिशों की वजह से बैंकों के ग्रॉस एनपीए मार्च 2022 तक घटकर 7.28 फीसदी पर है। सदन को वित्त मंत्री ने कहा कि 2022 तक में 7.5 लाख करोड रुपए कैपिटल एक्सपेंडिचर का जो लक्ष्य रखा गया था उसमें 54 फ़ीसदी का प्रयोग किया जा चुका है। वित्त मंत्री ने मौजूदा वित्त वर्ष 2022 में राजकोषीय घाटे के 6.4 फ़ीसदी के लक्ष्य को जरूर हासिल करेगी।

इसे भी पढ़ें-वित्त मंत्रालय ने टैक्सपेयर्स को दी ये राहत, जीएसटी, विवाद से विश्वास और रेमिटेंस मिलेगा लाभ 

- Advertisement -

More articles

Latest article