MP हनीट्रैप में सामने आए ‘कोडवर्ड’, 30 करोड़ की वीडियो क्लिप का भी हुआ खुलासा

0
276
Loading...

मध्य प्रदेश में हनीट्रैप कांड में रोज एक नया खुलासा हो रहा है। जहां अब तक इस जाल को कौन कौन लोग मिलकर फैला रहे थे। तो वही अब उनकी तस्वीरे भी सामने आई है। इतना नही अब जांच टीम के हाथ में एक डायरी भी लगी है। जिसमें कई तरह के कोडवर्ड लिखे हुए है। तो साथ ही इस डायरी में उन लोगों से वसूली गई रकम भी लिखी है। जो इस गिरोह के शिकार बनते थे। साथ ही कितना पैसा कहां से आना है ये भी इस डायरी में साफ साफ लिखा है। जिसमें कई नेताओं के नाम है। दरअसल हनीट्रैप मामले में 5 महिलाएं अब तक पकड़ी गई है। उसमें से एक के पास से ही डायरी मिली है। इसके साथ ही सौ से ज्यादा वीडियो भी मिली है। जिसमें मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के नेताओं के पूरा ब्योरा लिखा हुआ है। इसके अलावा कई पूर्व मंत्रियों के नाम भी शामिल है।

इस डायरी में जिन कोडवर्ड का जिक्र किया गया है। उसमें दो कोडवर्ड प्रमुख है। पहला ‘मेरा प्यार’ और दूसरा ‘पंछी’ है। इसके अलावा ‘वीआईपी’ कोर्डवर्ड भी कई जगह इस्तेमाल किया गया है।इस डायरी में हर शिकार से की गई वसूली को सिलसिले वार तरीके से लिखा गया था। इसके साथ ही ‘पंछी’ कोडवर्ड का इस्तेमाल उस व्यक्ति के लिए किया जाता था जो हसिनाओं के जाल बड़े ही आसानी से फंस जाता था और इससे रकम भी बड़ी वसूली जाती थी या फिर कुछ बचा हुआ होता था। इसके साथ ही जिन लोगों को कम उम्र की लड़कियों के जरीए फंसाया जाता था। उनके लिए ‘मेरा प्यार’ कोडवर्ड का इस्तेमाल होता था। साथ ही कई लोगों को वीआईपी’ कोर्ड भी रखा भी गया था। हालांकि इस डायरी में एक एनजीओ का जिक्र भी हुआ है। जो पकड़ी गई महिला के पति का एनजीओ है।

जानकारी के अनुसार, इन महिलाओं ने इन वीडियो क्लीप को लोकसभा चुनाव के दौरान बेचने की कोशिश की थी। इनकी कीमत 30 करोड़ लगाई गई थी। जिसके चलते ये महिलाएं राजनेताओं से संपर्क करने में लगी थी। वही बात में नेता भी इन क्लीप को पाने में लग गए थे। हालांकि इस सौदेबाजी के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर का ग्रुप भी जुड़ा था। जिसके चलते पुलिस ने इन ग्रुप को भी पकड़ा है। जिनके पास बड़ी मात्रा में वीडियो क्लिप मिली है। ये भी पढ़ें:- एमपी में हनीट्रैप के खुलासे के बाद, जिस्मफरोशी के धंधे का हुआ उजागर

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here