भारत के खिलाफ चीन के खतरनाक मंसूबे, सीमा पर तैयार कर रहा है नई ब्रिगेड

87
CHINA

चीन और भारत के बीच सीमा पर तनाव बढ़ता जा रहा है। दोनों देशों की सेना के बीच पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हिंसक छड़प हुई थी। जिसके बाद से ही चीन अपनी नई-नई चाल से भारत को आंख दिखाने की हिमाकत कर रहा है। हैरानी की बात है कि चीन इस दौरान अपनी सेना की तादाद और ताकत दोनों ही सीमा पर बड़ा रहा है। हाल ही में चीन ने उत्तर-पूव्री में डोकलाम क्षेत्र में अपनी ताकत में इजाफा किया था। इस दौरान चीन ने निगरानी उपकरण तैनात किए थे लेकिन अब चीन तिब्बत के ग्यांतसे में भी बड़ा सैनिक ठिकाना तैयार कर रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, चीन एक ऐसा सैनिक ठिकाना तैयार कर रहा है। जहां पर पूरी ब्रिगेड को हर मौसम में तैनात रखा जा सकता है। इस ठिकाने का निर्माण चीन ने इस साल के जनवरी में पूरा कर लिया है और बाकि बचा काम अगले साल तक पूरा होने की संभावना है। दावा किया जा रहा है कि चीन इस इमारत में 6 बटालियन रखने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक, यहां पर 6 बटालियन हेडक्वार्टर के अलावा प्रशासनिक मुख्यालय भी बनाया जाएगा। इतना ही नहीं, 600 से ज्यादा गाड़ियों के शेड्स और बहुत बड़ी तादाद में उपकरणों को रखने के लिए शेड भी बनाए जा रहे है। चीन की एक आर्टिलरी रेजिमेंट को ग्यांतसे से 14 किमी दूरी पर तैनात किया जाएगा। इस जगह से चीन सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश दोनों पर नजर रख सकता है। सैनिक अभियान भी आराम से शुरू किया जा सकता है।

बता दें कि चीन सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में अपने खतरनाक इरादे लेकर बैठा है। सिक्किम की तरफ से चीन अपनी सीमा को बढ़ाने की चाल चल रहा है तो वहीं, अरुणाचल प्रदेश पर उसकी नजर शुरू से ही रही है। यहां के तवांग पर चीन अपना दावा करता है और बौद्ध मठों पर वह कब्जा करना चाहता है। इसी वजह से चीन अब सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश पर नजर रखने के लिए इस तरह का निर्माण कर रहा है। इसी वजह से सीमा पर दोनों ओर से 40 हजार से ज्यादा सैनिक तैनात है।

ये भी पढ़ें:-भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ तो अमेरिका नहीं देगा हमारा साथ? ये है बड़ी वजह