ड्रैगन हुआ बेनकाब, अजीत डोभाल का सहारा लेकर चीन कर रहा ऐसी हरकत, भारतीय सेना ने खोली पोल

1374

चीन अब बुरी तरह बौखलाया हुआ है। इसकी तस्दीक वो खुद वास्तविक नियंत्रण रेखा पर अपनी गतिविधियों से कर रहा है। आए दिन जिस तरह से वो कभी सीमा पर घुसपैठ के इरादे से घुसकर या फिर भारतीय सैनिकों पर फायरिंग करके कर रहा है। उससे यह साफ जाहिर हो रहा है कि वो अब अपने नाकाम इरादों को जमीं पर उतारने की जद्दोजहद में मसरूफ है। इसके लिए वो अब अपनी अंकुश मीडिया का इस्तेमाल करते हुए विश्व बिरादरी में झूठ फैलाने पर अमादा हो चुका है और अब तो हालात ऐसे बन चुके है कि चीनी मीडिया अजीत डोभाल के बयान का भी सहारा लेकर भारत के खिलाफ झूठ की खेती कर रहा है, जिसे खुद भारतीय विदेश मंत्रालय ने खारिज किया है। ये भी पढ़े :LAC पर बढ़ा तनाव, ड्रैगन के झूठे दावों पर भड़की भारतीय सेना, कहा- चीन ने की फायरिंग

एक तरफ जहां चीन भारतीय सैनिकों पर फायरिंग का आरोप लगा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ भारतीय सेना भी साफ कर चुकी है कि उसकी तरफ से किसी भी उकसावे वाली या फिर कोई उग्र कार्रवाई नहीं की गई है। इसके उलट खुद चीन ने भारतीय सीमा पर फायरिंग किया था और हालात को संवेदनशील बनाने की नापाक कोशिश की थी, लेकिन हमारे सैनिकों ने अपने धैर्ये का परिचय देते हुए कोई उग्र गतिविधि को अंजाम देना मुनासिब न समझा। मगर हर मसले को लेकर झूठ की खेती करने वाला ड्रैगन भला अपनी हरकतों से कहां बाज आने वाला है..उसका लगातार यही कहना है कि भारतीय सैनिकों की तरफ से फायरिंग की कार्रवाई को अंजाम दिया गया है।

उधर, चीन अपने झूठ की तस्दीक के वास्ते अजीत डोभाल के बयान का सहारा ले रहा है, जबकि भारतीय विदेश मंत्रालय इसे काफी पहले ही खारिज कर चुकी है। वहीं, अपने झूठ को और पुख्ता बनाने के लिए चीनी  वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने 7 सितंबर को पैंगॉन्ग सो के दक्षिणी किनारे पर एलएसी पार कर घुसपैठ की कोशिश की। भारतीय सैनिकों ने हवाई फायरिंग की। आरोप है कि भारतीय सेना ने शेनपाओ इलाके में एलएसी पार की। वहीं, जब चीनी की पेट्रोलिंग पार्टी भारतीय जवानों से बातचीत करने के लिए आगे बढ़ी तो उन्होंने जवाब में वॉर्निंग शॉट किए और हवा में गोलियां चलाईं।

भारत ने किया चीन को बेनकाब 

उधर, भारतीय सेना ने चीन के झूठ को बेनकाब करते हुए कहा कि हमारी ओर से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर स्थिति को सामान्य करने की कवायद का सिलसिला जारी है। चीन उकसावे वाली हरकत कर रहा था बल्कि इसके उलट भारत ने किसी भी प्रकार की कोई भी उकसावे वाली कार्रवाई नहीं की है। चीन अपनी तरफ से हालात को बेकाबू करने की कोशिश कर रहा है , लेकिन इसके विपरीत भारतीय सेना  ने किसी भी उग्र गतिविधि का परिचय नहीं दिया है। ये भी पढ़े :भारतीय सेना का ब्लैक टॉप पर कब्जा, उखाड़ फेंके चीनी कैमरे और सर्विलांस सिस्टम