ड्रैगन ने बिछाया शैतानी जाल! अब यहां बना रहा मिसाइल साइट, सैटेलाइट में तस्वीरें कैद

29

लद्दाख सीमा पर पिछले तीन साल से जारी डोकलाम विवाद को लेकर नई जानकारी सामने आई है, दरअसल शनिवार को एक बार फिर चीन की मक्कारी भारत की सैटेलाइट तस्वीरों में कैद हो गई। बताया जा रहा है कि चीन भारत-चीन सीमा पर मिसाइल साइट बनाने पर जोर दे रहा है। जिससे की वह अपनी रक्षा शक्ति को बढ़ा सके। सूत्रों के अनुसार चीन की ओर से बनाई जा रही ये मिसाइट साइट डोकलाम और नाकू ला में बनाई जा रही है। बता दें कि यह वही इलाका है जहां डोकलाम से सटे गलवान में चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हिंसक झड़प की खबर सामने आई थी। इस हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, जबकि चीन के 40 जवान अपनी जान गंवा चुके थे। इस घटना के बाद भी चीन अपनी सेना को लगातार गलवान घाटी की और तैनात कर रहा है, अब तक चीन ने 40 हजार से ज्यादा सैनिकों को सीमा पर तैनात किया हुआ है, वहीं भारत के सैनिक भी लगातार सीमा पर गश्त पर है। बता दें कि चीन और भारत के बीच कई दफा शांति वार्ता को लेकर बात की गई है, लेकिन चीन हर बार शांति का चोला पहन युद्ध की रणनीति बनाने में जुटा हुआ है।

ये भी पढ़ें:-LAC पर फिर बड़ी टेंशन, चीन के अड़ियल रवैये का जवाब देने के लिए भारत ने उठाया सख्त कदम

वहीं हाल ही में चीन की एक और मक्कारी सैटेलाइट तस्वीरें में पकड़ी गई है। ओपन सोर्स इंटेलिजेंस एनालिस्ट ने नई सैटेलाइज इमेज सोशल मीडिया पर शेयर की गई हैें। शेयर की गई फोटो में दो साइटें दिखाई दे रही हैं। जिनमें चीन सेना सतह से हवा में वार करने वाली मिसाइल साइट बना रही ही है।

कहा जा रहा है कि चीन की ओर से ये मिसाइल साइट डोकलम से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर बनाई जा रही है, जो कि डोकलाम के पठार के पास है। ये वही जगह है, जहां पर साल 2017 में भारत और चीन के बीच करीब 70 से

ज्यादा दिनों तक गतिरोध चला था। चीन के इस मिसाइल साइट को देखते हुए रक्षा सूत्रों का कहना है कि चीन अपने रक्षा सिस्टम को मजबूत करने के लिए ऐसे हथकंड़े अपना रहा है। हालांकि भारत भी सीमा पर चीन को हर मोर्चे पर जवाब देने के लिए तैयार है।

ये भी पढ़ें:-लद्दाख सीमा के पास चीन ने तैनात किए अपने बॉम्बर एयरक्राफ्ट, भारत के राफेल से नहीं खतरनाक!