केदारनाथ में मोदी ने जिस गुफा में साधना की, वहां फुल हुई बुकिंग…अब बनेगी दूसरी गुफा

पीएम मोदी ने केदारनाथ में टूरिजम को बढ़ावा देने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। यही कारण है कि आज केदारनाथ में तीर्थयात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। वही लोकसभा चुनाव के दौरान पीएम मोदी ने जिस गुफा में साधना की थी। अब उस गुफा की डिमांड भी बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि आने वाले 10 दिनों के लिए बुकिंग फुल हो चुकी है। हाल ही में साधना के बाद पीएम मोदी की तस्वीर काफी पसंद की गई है। प्रकृति की गोद में बनी प्राकृतिक गुफा की डिमांड बढ़ती ही जा रही है। अब ये गुफा श्रद्धालुओं के बीच बेहद लोकप्रिय हो चुकी है। बात करे पीएम मोदी की शिव भक्ती की तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का केदारनाथ धाम से पुराना नाता है। पीएम नरेंद्र मोदी भोले के बड़े भक्त है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है जब केदारनाथ धाम में दैवीय आपदा के दौरान मुख्यमंत्री के तौर पर पहुंचे थे। साल था 2013 ये वही साल था जब देवभूमि आपदा से प्रभावित थी। इस वक्त मोदी आपदा प्रभाव‌ितों के ल‌िए मसीहा बनकर यहां उतरे थे। उत्तराखंड में आपदा प्रभाव‌ितों के ल‌िए उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है।ये भी पढ़े- केदारनाथ से पीएम मोदी का है बेहद पुराना रिश्ता इस वजह से पहुंचे बाबा के धाम

साल 2013 की आपदा के वक्त गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए वो यहां फंसे लोगों को निकालने के लिए पहुंचे थे। उस वक्त उन्होंने आपदा प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी क‌िया था। इसके साथ ही केदारनाथ धाम में फंसे 15 हजार गुजरातियों को उस वक्त उन्होंने एक दिन में सुरक्षित निकाल लिया था। मोदी ने संकट के वक्त पर्यटकों और श्रद्धालुओं की मदद करने के लिए उत्तराखंड के लोगों की सराहना की थी। नरेंद्र मोदी ने आपदा के वक्त मौजूदा कांग्रेस सरकार को ये भी कहा था कि केदारनाथ धाम मंदिर में हुए नुकसान के लिए गुजरात सरकार सहयोग देना चाहती है लेकिन तत्कालीन विजय बहुगुणा सरकार ने गुजरात सरकार से मदद लेने से साफ मना कर दिया था। आपदा के दौरान बुरी तरह से क्षत‌िग्रस्त हुए केदारनाथ मंद‌िर के पुनर्निर्माण का प्रस्ताव पीएम मोदी ने ही रखा था लेकिन कांग्रेस का कहना था कि वो अपने पैसों से मंदिर का ही नहीं बल्कि पूरे केदारपुरी का पुनर्निर्माण करवा सकती है।ये भी पढ़े-केदारनाथ में फिर तैयार हो रही है खतरनाक झील..वैज्ञानिकों ने जताई त्रासदी की आशंका

बात करे इस गुफा की तो केदारनाथ मंदिर से करीब डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर ध्यान साधना के लिए रुद्र गुफा यानी ध्यान गुफा बनकर तैयार की गई है। साढ़े आठ लाख रुपये की लागत से पहाड़ी शैली में इस गुफा को तैयार किया गया है। गढ़वाल मंडल विकास निगम की ओर से इस गुफा में रहने-ठहरने और शौचालय आदि की पूरी व्यवस्था कराई गई है। ध्यान लगाने के लिए नितांत प्रकृति की गोद में बनाई गई ये एक आधुनिक गुफा है। यही पीएम नरेंद्र मोदी ने ध्यान साधना की थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्टूबर 2017 में केदारनाथ में पांच योजनाओं का शिलान्यास किया था। उस समय उन्होंने योग, साधना और आध्यात्म के लिए केदारपुरी में गुफाओं के निर्माण की भी बात कही थी। प्रधानमंत्री खुद समय-समय पर यहां चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा करते हैं। ये भी पढ़े-वरुण का विरोधियों पर वार, जब मेरा शस्त्र निकलेगा तो अच्छे-अच्छे धुरंधर अपनी गुफा में चले जाएंगे

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,092,598FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles