Categories
देश पंजाब

लुधियाना कोर्ट परिसर में ब्लास्ट, दो की मौत-चार घायल, NIA & NSG मौके पर पहुंची

लुधियाना। पंजाब में लुधियाना के कोर्ट परिसर में भीषण ब्लास्ट हुआ है, जिसमें दो लोगों की मौत और चार लोग जख्मी हुए हैं। धमाके की आवाज सुनकर लोग सकते में आ गए थे। धमाके बाद हर तरफ अफरा तफरी मच गई। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी कुछ देर में लुधियाना के लिए रवाना हो गये। उन्होंने इसे साजिश करार दिया है। जांच के लिए एनआईए और एनएसजी की टीमें भी मौके पर पहुंच रही हैं। यह विस्फोट परिसर के दूसरे तल पर हुआ है। धमाका के सही कारणों की जानकारी नहीं मिल सकी है। यह ब्लास्ट लुधियाना कोर्ट की कॉपी ब्रांच में हुआ। फिलहाल कोर्ट में वकीलों की हड़ताल चल रही थी, इसलिए कोर्ट में ज्यादा भीड़ नहीं थी, जिससे बड़ा हादसा होने से टल गया।

Ludhiyana

जांच के लिए पहुंच रही NIA और NSG

लुधियाना कोर्ट में ब्लास्ट के बाद एनआईए और एनएसजी को वहां जांच के लिए भेजा जा रहा है। एनआईए की दो टीम लुधियाना जा रही हैं। वहीं एनएसजी की एक टीम लुधियाना जाएगी। नेशनल बम डेटा सेंटर की टीम भी लुधियाना भेजी जा रही है।

सीएम चन्नी ने बताया साजिश का हिस्सा

लुधियाना ब्लास्ट पर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का भी बयान आया है। उन्होंने विस्फोट को साजिश बताया है। चन्नी ने कहा कि दोषियों को बक्शा नहीं जाएगा। चन्नी बोले कि मैं मौके का जायजा लेने के लिए लुधियाना जा रहा हूं, जैसे-जैसे चुनाव पास आ रहा है कुछ देश विरोधी ताकतों द्वारा ऐसी घिनौनी हरकतें की जा रही हैं। इसे लेकर सरकार सचेत है, लोगों को भी सचेत रहना चाहिए। बेअदबी की कोशिश की गई सफल नहीं हुए, अब ब्लास्ट किया गया।

जबरदस्त धमाके ने 6 मंजिला इमारत को हिला कर रख दिया था। जिस तरह से धमाका हुआ है उससे यह सिलेंडर का ब्लास्ट नहीं लग रहा। आशंका है कि इसके पीछे कोई साजिश है, जिसकी मंशा डर और दहशत फैलाना है। कोर्ट परिसर में हुए धमाके ने सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। यह धमाका चुनाव में मुद्दा और उसके पहले भी तनाव की वजह बन सकता है। यह ब्लास्ट विधानसभा चुनाव से पहले माहौल खराब करने की कोशिश भी हो सकती है।

यह भी पढ़ेंः-अयोध्या में हाई अलर्ट के बाद मिली ब्लास्ट की धमकी, सख्त निगरानी के साथ ब्लैक कमांडो तैनात