Wednesday, December 8, 2021

कांग्रेस की सोच पर भारी पड़ गयी है BJP की नफरत वाली विचारधारा : राहुल गांधी

Must read

- Advertisement -

दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वर्धा में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित किया। इस दौरान राहुल गांधी ने विचारधारा को लेकर भाजपा पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस और बीजेपी की घृणित विचारधारा कांग्रेस पार्टी की प्रेम वाली और राष्ट्रवादी विचारधारा पर भारी पड़ गई है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान में दो विचारधाराएं हैं, एक कांग्रेस पार्टी की और एक आरएसएस की। वर्तमान हिन्दुस्तान में बीजेपी और आरएसएस ने नफरत फैला दी है। कांग्रेस की विचारधारा जोड़ने, भाईचारे और प्यार की है।

कांग्रेस की विचारधारा जीवित

- Advertisement -

राहुल गांधी ने कहा कि आज हम विभाजनकारी विचारधारा को पसंद करते हैं या नहीं। भारतीय जनता पार्टी की घृणित विचारधारा ने कांग्रेस पार्टी की प्रेम वाली और राष्ट्रवादी विचारधारा को ढक लिया है। हमें यह स्वीकार करना होगा। लेकिन अब हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते। हमारी विचारधारा जीवित है, यह जीवंत है लेकिन इसे ढक लिया गया है।

हमने विचारधारा को प्रचारित नहीं किया

राहुल गांधी ने कहा कि ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि हमने अपनी विचारधारों को लोगों के बीच आक्रामक रूप से प्रचारित नहीं किया। उन्होंने कहा कि जब मैं कहता हूं कि कांग्रेस की विचारधारा है तो यह सही नहीं है। कांग्रेस ऐसी विचारधारा का पालन करती है जो हजारों सालों से भारत में मौजूद है। राहुल गांधी ने कहा कि आदि शिव है, कबीर जैसे लोग गुरु नानक। ये ऐसे विचार थे जो दर्शाते हैं कि हम किसके लिए खड़े हैं। उन्होंने कहा कि गांधी जी एक और उदाहरण हैं। इसलिए ये लोग खड़े थे और हमें गहराई से अध्ययन करना होगा कि वे क्या कह रहे थे।

विचारधारा की लड़ाई सबसे अहम

राहुल गांधी ने कहा कि 2014 से पहले विचारधारा की लड़ाई केंद्रित नहीं थी। आज के हिन्दुस्तान में विचारधारा की लड़ाई सबसे महत्वपूर्ण हो गई है। हमें जिस गहराई से अपनी विचारधारा को समझना व फैलाना चाहिए।

हिन्दू और हिंदुत्व में फर्क : राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी हिन्दुत्व की बात करती है। हम कहते हैं कि हिन्दू धर्म और हिन्दुत्व में फर्क है। क्योंकि अगर फर्क नहीं होता तो नाम एक ही होता। राहुल गांधी ने कहा कि क्या सिख और मुस्लिम को पीटना हिंदू धर्म है…नहीं…यह हिंदुत्व है। किस किताब में लिखा है कि एक मासूम की हत्या करो। मैंने उपनिषद पढ़ा है, मैंने इसे हिंदू, सिख या इस्लामी धर्मग्रंथों में नहीं देखा है। मैं इसे हिंदुत्व में देख सकता हूं।

यह भी पढ़ेंः-लखीमपुर कांड पहुंचा राष्ट्रपति दरबार, राहुल गांधी ने बर्खास्तगी के साथ की जांच की ये मांग

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article