बीजेपी ने एक साल में खोए अपने 5 अनमोल रत्न, जानें इनके बारे में

0
103
bjp
Loading...

2019 में बीजेपी के दो नेता एक ही महीने में देश को अलवीदा कर चले गए। जिनमें बीजेपी दिग्गज नेता सुष्मा स्वराज और अरूण जेटली थे। बता दें कि इनके साथ साथ पिछले करीब एक साल के भीतर बीजेपी ने अपने 5 दिग्गज नेताओं को खो दिया है। चार चेहरे तो ऐसे थे जो 2014 की नरेंद्र मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे। इन के बल पर बीजेपी को अपनी एक नई पहचान मिली।

1-अटल बिहारी वाजपेयी
पहले तो बीजेपी के दिग्गज नेताओं में भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की मृत्यू हो गई। दरअसल, अटल बिहारी वायपेयी भी काफी लंबे समय से बीमार थे। जिसके चलते 16 अगस्त, 2018 को उनका निधन हो गया। 2004 में राजनीति से संन्यास लेने वाले अटल बिहारी वाजपेयी को 2015 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

25 दिसंबर 1924 को जन्में वाजपेयी बीजेपी के संस्थापकों में शामिल थे और 3 बार भारत के प्रधानमंत्री के पद पर आसिन रहे। हालांकि, वह एक बार ही 5 साल का कार्यकाल पूरा कर सके। वह पहले ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री थे जिन्होंने 5 साल का कार्यकाल पूरा किया।

2-अनंत कुमार
वहीं अलग बात करें बीजेपी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार की इनका भी इसी 2019 में निधन हो गया। अनंत कुमार का निधन 12 नवंबर, 2018  बेंगलुरु में हुआ। अनंत कुमार बेंगलुरु साउथ से लगातार 6 बार जीत हासिल किया और इन्हें 59 वर्ष में ही फेफड़ों का कैंसर से उनकी मौत हो गई।

बता दें कि अनंत कुमार ने अपना राजनीतिक केरियर की शुरूवात केंद्र में मंत्री बनकर खत्म हुआ। इस बीच उन्होंने करीब दर्जनभर मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली। इतना ही नहीं वो बीजेपी के सरकार में खेल मंत्री और शहरी विकास मंत्री भी रहे। हालांकि उन्होंने कभी कर्नाटक की राजनीतिक में सक्रियता नहीं दिखाते हुई कर्नाटक में रहकर भी दिल्ली में पार्टी मजबूत करने में अपना जीवन खपा दिया।

3-मनोहर पर्रिकर
मनोहर पर्रिकर रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री रहे । उन्होंने लोगों के दिलों में ईमानदार नेता की छवि लोगों के दिलों में बनाई। भाजपा नेता मनोहर पर्रिकर 17 मार्च, 2019 को दुनिया छोड़कर चले गए। वह लंबे समय से अग्नाशय के कैंसरे से पीड़ित थे। पर्रिकर चार बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे। 2014 में एनडीए सरकार में मनोहर पर्रिकर ने देश के रक्षा मंत्री की भूमिका निभाई।

4- सुषमा स्वराज
दूसरी ओर दिग्गजों और स्वाभिमानियों में गिने जाने वाली पूर्व विदेश मंत्री, प्रखर वक्ता और भारतीय जनता पार्टी की दिग्गज वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने इसी महीने 6 अगस्त को दुनिया को अलविदा कह दिया था। सुषमा स्वराज को आयरन वॉमन के नाम से भी जाना जाता था। वह 67 साल की थीं। वो साल 2014 से 2019 तक भारत की विदेश मंत्री रहीं। सुषमा ने दुनिया भर के देशों के साथ संबंधों को और मजबूत करने के लिए काफी योगदान दिया। जुलाई 1977 में मुख्यमंत्री देवी लाल की सरकार में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया। वह पहली सबसे युवा कैबिनेट मंत्री रहीं। 1987 से 1990 तक वह हरियाणा की शिक्षा मंत्री भी रहीं। साल 1990 में उन्होंने राष्ट्रीय राजनीति में एंट्री की।

5-अरुण जेटली
वहीं अब अरूण जेटली सभी को अलवीदा कर छोड़ कर चले गए। पूर्व वित्तमंत्री व भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार 24 अगस्त को एम्स में 66 वर्ष की आयु में निधन हो गया। सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद जेटली को नौ अगस्त को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले मंत्रिमंडल में  जेटली ने वित्तमंत्री का कार्यभार 2014 से 2018 तक संभाला. इससे पहले वह राज्यसभा में 2009 से 2014 तक नेता प्रतिपक्ष भी रहे।

हमारा यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here