रघुवंश को नहीं करना चाहते लालू नाराज, रमा सिंह की RJD में एंट्री पर लग सकती है रोक

83

बस कुछ महीनों का इंतजार, फिर दिखेगा बिहार में सियासी महादंगल। इस सियासी दंगल में फतह पाने के लिए अभी से ही सियासी गुना-भाग का सिलसिला शुरू हो चुका है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले ही संकेत दे चुके हैं कि बहुत जल्द ही बिहार में विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा हो सकती है। उधर, अब राष्ट्रीय जनता दल में भारी उथल-पुथल देखने को मिल रही है और इस उथल-पुथल के कारण राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी अभी दुविधा की स्थिति से गुजर रहे हैं। राजद में इस उथल पुथल का कारण रघुवंश प्रसाद सिंह और रामा सिंह बने हैं। ये दोनों ही आपसी प्रतिद्वंदी माने जाते हैं। ऐसे में फिर रमा सिंह की राजद में एंट्री पर रोक लग सकती है।

ये भी पढ़े :लालू के निशाने पर सुशासन बाबू , पुल टूटने की घटना से खफा हुए लालू ने नीतीश की लगा दी क्लास 

बता दें कि जैसे ही राजद के उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह को यह मालूम पड़ा कि उनके प्रतिद्वंदी रमा सिंह राजद में शामिल होने जा रहे हैं तो रघुवंश ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। वहीं, बीते दिनोंं तेजप्रताप यादव ने भी रघुवंश के खिलाफ जमकर बयानबाजी कर दी थी। उन्होंने तो यहां तक कहा दिया था राजद एक समुंद्र है और रघुवंश मात्र एक लोटा पानी हैं। तेज प्रताप के इस बयान से रघुवंश नाराज हो गए। इसके बाद रांची में इलाजरत लालू प्रसाद यादव ने फौरन तेजप्रताप यादव को समन किया और सूत्रों की मानें तो उनकी जमकर क्लास भी लगाई। इसके बाद तेजप्रताप के एकाएक सुर बदल गए।

वहीं लालू यादव के लिए एक तरफ जहां रमा सिंह को पार्टी में लाना भी अनिवार्य है और दूसरी तरफ रघुवंश की नाराजगी भी खासा चिंता का विषय है। उधर, जब गत शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान तेजस्वी यादव से राजद में रमा सिंह की एंट्री को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कोई टिप्पणी करने से साफ इनकार कर दिया। अब ऐसे में माना जा रहा है कि रमा सिंह की एंट्री में ब्रेक लग सकता है। लालू प्रसाद यादव भी इस मामले में हस्तक्षेप करने से परहेज कर रहे हैं। राजनतीकि प्रेक्षकों की मानें तो लालू को इस बात का खौफ है कि रमा सिंह की एंट्री से खफा हुए रधुवंश कहीं पार्टी को अलविदा न कह दे। अगर ऐसा है तो विधानसभा चुनाव में राजद को करारा झटका लग सकता है।

ये भी पढ़े :लालू यादव के घर में एक से बढ़कर एक, कोई डॉक्टर तो कोई इंजीनियर, जानें खुद कितना पढ़े हैं लालू