बिहार चुनाव से पहले PM मोदी ने छोड़ा ये तीर, निशाने पर लगा तो खिल सकता है ‘कमल’

765

अभी बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारी अपने चरम पर है। तमाम सियासी दलों के नुमाइंदे इस जुगत में मसरूफ है कि कैसे भी करके बिहार का सियासी दुर्ग अपने नाम किया जा सके। इन तैयारियों के बीच अब पीएम मोदी ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले सूबे का सियासी दुर्ग अपने नाम करने के लिए बड़ा ऐलान किया है। यह ऐलान उन्होंने देश के विकास में अहम किरदार अदा करने वाले किसानों के हित में किया है। पीएम ने 294 करोड़ रूपए की योजना का ऐलान किया है। इस योजना का नाम ‘प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना’ (पीएमएमएसवाई) का शुभारंभ किया गया है।

इसके इतर किसानों के प्रत्यक्ष उपयोग के लिए एक समग्र नस्ल सुधार, बाजार और सूचना संबंधी ई गोपाल एप की भी शुरूआत की है। इस खास मौके पर प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह समेत कई नेता मौजूद रहे हैं। इसके साथ ही इस खास मौके पर पीएम मोदी ने लाभार्थियो को इस योजना के लाभ से अवगत कराया है। इस मौके पर पीएम मोदी को पूर्णिया की महिला ने बताया कि शराबबंदी के बाद उनके परिवारजनो ने पशुपालन का काम शुरू किया था। उधर, पीएम मोदी ने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में हमारी  सरकार अनवरत काम कर रही है।

भोजपुरी भाषा में की भाषण की शुरूआत
यहां पर हम आपको बताते चले कि पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरूआत भोषपुरी भाषा में करके वहां मौजूदा लोगों से बेशुमार वहावाही लूटी। पीएम के वक्तव्यों से यह साफ जाहिर हुआ कि उनका खास ध्यान देश के उन किसानों से हैं, जो देश के विकास को सबल बनाने की दिशा में दिन रात अपने खेतों में काम करते हैं। उन्होंने अपने भाषण में कहा कि हमारा प्रयास है कि मछली पालन और डेयरी से जुड़े काम के लिए किसानों की आय को दोगुना किया जाए। फिलहाल तो प्रदेश में मछली पालन पर पूर्ण जोर देने के लिए अपनी तरफ से तमाम प्रयास किए जा रहे हैं।

वहीं, पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार गंगा नदी को भी साफ करने की दिशा में विशेष बल दे रही है। मछली पालन भी साफ पानी में ही किया जाता है। पीएम मोदी ने कहा कि इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार घर-घर साफ पानी पहुंचाने की दिशा में काम कर रही है। साथ ही इसके लिए शुरू की गई डॉलफिन का योजना का लाभ मिल सके। इलके लिए प्रदेश सरकार लगातार काम कर रही है। गौरतलब है कि कुछ ही दिनों बाद ही बिहार में  विधानसभा के चुनाव  होने जा रहे हैं। बहरहाल, ऐसी स्थिति में जब प्रदेश में कुछ ही दिनों बाद विधानसभा के चुनाव होने हैं, तो पीएम मोदी की योजना चुनाव के लिहाज से काफी अहम मानी जा रही है। ये भी पढ़े :बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने की वर्चुअल रैली, अमित शाह सहित इन नेताओं ने लिया हिस्सा