नहीं रहे कपिलदेव कामत, बिहार सरकार में शोक की लहर, CM नीतीश ने कहा- ‘यह अपूरणीय क्षति है’

50

इस वक्त की सबसे बड़ी व दुखद ख़बर बिहार से आ रही है। खबर है कि सीएम नीतीश कुमार के कैबिनेट में उनके सहयोगी रहे कपिलदेव कामत का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया है। कपिलदेव कामत नीतीश  सरकार में पंचायती राज्यमंंत्री का पदभार संभाले हुए थें। वे बीते दिनों ही कोरोना से संक्रमित पाए गए थें। वे पटना के एम्स अस्पताल में उपचाराधीन थें। उन्हें किडणी सहित सांस लेने में तकलीफ भी होती थी। आखिरकार लंबी बीमारी से जंग लड़ने के बाद वे अब जिंदगी से जंग हार गए।  कपिलदेव कामत के निधन पर सीएम नीतीश कुमार ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि मैं कपिलदेव कामत के असमायिक निधन पर शोक व्यक्त करता हूं। सीएम नीतीश ने कहा कि वे मेरे सहयोगी थें। वे एक कुशल प्रशासक थें। उनके निधन से सामाजिक व राजनीतिक रूप से अपूर्णिय क्षति हुई है। उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

कपिलदेव कामत के निधन से दुखी हुए नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना काल में लागू किए गए दिशानिर्देशों को मद्देनजर रखते हुए कपिलदेव कामत का  राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। दुख की इस घड़ी में मुख्यमंत्री ने उनके परिजन को हिम्मत बांधने के लिए प्रार्थना की है। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में इस पीड़ा को झेलने के लिए इश्वर उनके परिजनों को बल प्रदान करें।

बड़े कद्दावर नेता थे कामत 
यहां पर हम आपको बताते चले कि बिहार मंत्रिमंडल में पंचायती राज मंत्री का पदभार संभालने वाले कामत जेडीयू के बेहद कद्दावर नेता व मुख्यमंत्री नीतीश के बेहद करीबी नेता मानें जाते थे। उधर, उनके स्वास्थ्य की संवेदनशीलता को मद्देनजर रखते हुए इस बार उनकी बहू को बाबूबरही से टिकट दिया गया है। ये भी पढ़े :बुरे फंसे नीतीश कुमार, बिहार के बारे में बोल रहे थें कुछ ऐसा-वैसा चिराग ने लगा दी जमकर क्लास