बिहार की राजनीति में ब्लैक ड्रेस वाली लड़की ने मचाया तहलका, अपनी पार्टी से खुद CM प्रत्याशी

167
pushpam priya chaudhary bihar politics

अखबारों से लेकर सोशल मीडिया पर ब्लैक ड्रेस वाली लड़की छाई हुई है. नाम है पुष्पम प्रिया चौधरी जो बिहार से हैं और विदेश से पढ़कर आई हैं. लेकिन इनका नाम इंटरनेट पर भी खूब सर्च किया जा रहा है. लोगों के बीच पुष्पम की ब्लैक ड्रेस वाली तस्वीरें खूब वायरल हो रही हैं. खास बात ये है कि, इस स्मार्ट लड़की का कनेक्शन बिहार की राजनीति से है. जानकर हैरानी होगी लेकिन सच यही है कि ब्लैक ड्रेस वाली लड़की का सपना मुख्यमंत्री बनना है. तो आइए जानते हैं इनके बारे में.

राजनीतिक आंदोलन ‘सबका शासन’
ब्लैड ड्रेस वाली स्मार्ट लड़की ने अपने बारे में किसी इंटरव्यू में नहीं बल्कि अपनी खुद की वेबसाइट www.plurals.org पर बताया है. पुष्पम का कहना है कि वह बिहार की राजनीति में उतरकर राज्य के लिए काम करना चाहती हैं औरpushpam priya chaudhary विकास की दिशा में आगे बढ़ना चाहती हैं. पुष्पम की परवरिश दरभंगा जिले में हुई है और उन्होंने साल 2020 में प्लुरल्स पार्टी बनाकर एक राजनीतिक आंदोलन ‘सबका शासन’ की शुरुआत की है.

विदेश से की पढ़ाई
दरभंगा जिले से ताल्लुक रखने वाली ब्लैक ड्रेस वाली लड़की की पढ़ाई विदेश से हुई है और विदेश से लौटने के बाद उनका सपना कोई नौकरी नहीं बल्कि मुख्यमंत्री बनना है. जिससे वह राज्य को आगे बढ़ा सके. पुष्पम ने 12वीं तक की पढ़ाई यहीं रहकर लेकिन आगे की पढ़ाई के लिए वह यूनाइटेड किंगडम गईं औरpushpam priya chaudhary bihar यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स के इंस्टीट्यूट ऑफ डिवेलपमेंट स्टडीज से डिवेलपमेंट स्टडीज में स्नातकोत्तर की डिग्री ली. इसके बाद उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस विषय से मास्टर ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की दूसरी स्नातकोत्तर डिग्री ली.

इस वजह से हुई राजनीति में दाखिल
पुष्पम ने बिहार की राजनीति में कदम रखने का फैसला उस वक्त लिया जब उन्होंने 2018 और 2019 में एंसेफलाइटिस बुखार से सैकड़ों बच्चों की मौत की खबरों के बारे में पढ़ा. इस घटना ने उन्हें अंदर तक झकझोर दिया था. इसी के बाद उन्होंने अपने होम स्टेट की परेशानियों को खत्म करने के बारे में सोचा औरpushpam priya chaudhary 1 बिहार की राजनीति के कदम रखा. पुष्पम उस वक्त विकसित लोकतंत्रों के लिए बॉस्टन कन्सल्टिंग ग्रुप और एलएसई की पब्लिक-पॉलिसी के एक प्रॉजेक्ट पर काम कर रही थीं. पर वह एक उद्देश्य के साथ भारत लौटीं और यहां प्लूरल्स पार्टी बनाई. जिसकी अध्यक्ष वह खुद ही हैं. उनकी पार्टी का लोगो पर सफेद घोड़ा बना है जिस पर पंख भी लगे हैं. इस लोगों को शक्ति और तीव्रता का प्रतीक माना गया है. पुष्पम पार्टी की नारा जन गण सबका शासन है. जानकर हैरानी होगी कि अपनी पार्टी से सीएम उम्मीदवार कोई और नहीं बल्कि वह खुद ही हैं और राज्य का सीएम बनना उनका सपना है.

पिता विधान परिषद सदस्य
पुष्पम प्रिया के पिता विनोद चौधरी जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और विधान परिषद के सदस्य रह चुके हैं. pushpam-priya-choudhary-bihar-2020पुष्पम कहती हैं कि, उनका राजनीति में आने का उद्देश्य सिर्फ इतना है कि वह राज्य का विकास करेंगी और समाज के सबके निचले और सुख-सुविधाओं से वंचित तबके को मुख्यधारा में लाएगी. ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि, बिहार की राजनीति में पुष्पम प्रिया कौन-से नए बदलाव लाती हैं और बिहार की जनता से उन्हें कितना प्यार मिलता है. फिलहाल तो पुष्पम सोशल मीडिया सेंसेशन बनी हुई हैं.

ये भी पढ़ेंः- 2017 में बेटे ने IAS की बेटी से छेड़छाड़ कर लुटाई थी इज्जत, अब पिता की चुनाव में डूबी लुटिया