दूसरा दशरथ मांझी निकला ये किसान, अकेले खोद दी 3 km लंबी नहर, आनंद महिंद्रा ने दिया इनाम

383

बिहार के गया जिले से एक ऐसा वाकया देखने को मिला है जिसने न सिर्फ अपने लिए काम किया, बल्कि हजारों लोगों को उस काम से फायदा पहुंचाया। दरअसल बिहार के गया जिले में रहने वाले एक किसान ने महज 30 साल में तीन किलोमीटर लंबी नहर अपने फावड़े से खोद दी। उनके इस साहस को देख हर कोई कायल हो गया है। किसान लौंगी भुइयां की मेहनत को देख महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने एक महिंद्रा ट्रैक्टर इनाम में देने की घोषणा की है। किसान लौंगी भुइयां ने बिल्कुल दशरथ मांझी जैसा काम किया है, उन्होंने भी अपनी पत्नी को ले जाने के लिए रास्ते में आए बड़े पहाड़ को काट दिया था, वो भी एक छैनी हथोड़े से, आज दशरथ मांझी की कहानी पूरी दुनिया को पता है। बहरहाल किसान लौंगी भुइयां ने जो काम किया है, उसकी सोशल मीडिया पर काफी तारीफ की जा रही है। लोग इनकी दशरथ मांझी के साथ तुलना कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें:-मोदी सरकार का किसानों को तोहफा! खत्म हुआ 15 लाख का इंतजार, ‘FPO’ स्कीम से मिलेगा लाभ

आनंद महिंद्रा ने लौंगी भुइयां की मदद करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। किसान के लिए मदद की मांग करते हुए एक ट्वीट के जवाब में आनंद महिंद्रा ने लिखा, “जैसा कि आप जानते हैं, मैंने ट्वीट किया था कि मुझे लगता है कि उनकी नहर ताज या पिरामिडों के समान प्रभावशाली है। हम @MahindraRise पर इसे एक सम्मान मानते हैं। हम उन्हें ट्रैक्टर भेंट करना चाहते हैं। उन तक किस तरह पहुंचा जाए।

बहरहाल ट्वीटर पर लौंगी भुइयां की यह मेहनत रंग लाई, आनंद महिंद्रा सम्मान के साथ उनके घर तक ट्रैक्टर भी पहुंचा दिया।

मालूम हो कि भुइंया ने हाल ही में गया के लहथुआ क्षेत्र में अपने गांव कोठीलावा के पास की पहाड़ियों से नीचे आने वाले वर्षा जल जमा करने के लिए 3 किलोमीटर लंबी नहर खोदकर लोगों का ध्यान आकर्षित किया। उनका पराक्रम बिहार के दशरथ मांझी की याद दिलाता है।

ये भी पढ़ें:-मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, अब डाकुओं के इलाके चंबल के बीहड़ में किसान करेंगे खेती