बड़ी खबर: ट्रेन में बंद हो रहे है स्लीपर कोच! रेलवे ने बताया पूरा प्लान

246
Railway travel rules

कोरोना काल में भारतीय रेलवे में कई तरह के बदलाव किए गए है। जिससे यात्रियों को सुविधा दी गई है। टिकट बुकिंग से लेकर यात्रा के नियमों को बदला गया है लेकिन इस बीच खबर आ रही है कि भारतीय रेलवे अब मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास बोगी को हटाने की तैयारी में लगी है। जिससे यात्रियों को झटका लग सकता है। लेकिन जैसे ही सोशल मीडिया पर ये खबर वायरल हुई। तो रेलवे की तरफ से इस वायरल खबर पर सफाई भी दी गई। रेलवे ने इस खबर को गलत बताया गया है। रेलने ने कहा कि थ्री-टीयर कोच को लाने का मकसद यात्रा को ज्यादा सस्ता और आरामदायक बनाना है। हम निश्चित ही स्लीपर क्लास कोचों को रखेंगे। रेलवे उसे बंद नहीं कर पा रहा है।

दरअसल रेलवे ने बोर्ड के चेयरमैन और सीईओ वीके यादव ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान वीके यादव ने कहा कि, ‘रेलवे अपने नेटवर्क में ही ट्रेन की स्पीड को बढ़ाने के काम में लगा है। नई दिल्ली- मुंबई और नई दिल्ली-कोलकाता रूट पर ट्रेन की गति 130 किमी कर दी जाएगी। जबकि 160 किमी की गति हासिल करने का काम किया जा रहा है। जिसके लिए ट्रैक को अपग्रेड करने का काम शुरू कर दिया गया है। स्पीड तेज होने की वजह से स्लीपर क्लास के कोचों में यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए रेलवे ने नए AC-3 टीयर कोच बनाने का फैसला लिया है, जो अगले साल तक आ जाएगा। हमारा उद्देश्य AC ट्रेनों से सफर को ज्यादा सस्ता बनाने का है और इसका किराया S-3 और स्लीपर क्लास के बीच होगा।’

बता दें कि रेलवे AC कोच की क्षमता को बढ़ाने में लगा है। अब तक 3rd AC कोच में 72 बर्थ या सीट होती है लेकिन रेलवे जल्द ही 83 सीट वाला AC कोच लाने वाला है। 83 वर्थ वाले AC कोच रेलवे की कोच फैक्ट्री में तैयार हो रहे है। जिन्हें जल्द ही ट्रैक पर उतारा जाएगा। इस साल 100 कोच बनकर तैयार हो जाएंगे। वहीं, अगले साल तक 200 कोच बनाने का लक्ष्य है। इन कोच से यात्रियों का काफी राहत मिलेगी।

ये भी पढ़ें:-रेलवे का भक्तों को तोहफा, नवरात्रि से पहले चलेगी वंदेभारत, नई 39 स्पेशल ट्रेनें भी होंगी शुरू