Homeदेश'आजम खान को सदन में घुसने न दिया जाए, प्रवेश पर प्रतिबंध...

‘आजम खान को सदन में घुसने न दिया जाए, प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया जाए’

- Advertisement -

पहली बार लोकसभा में पहुंचने वाले आजम खान ने यहां भी अपनी छाप छोड़ दी है। आजम खान अपने विवादित बयानों को लेकर जाने जाते है। लोकसभा में भी आजम खान ने बीते दिनों चेयर बैठी रमा देवी के खिलाफ विवादित बयान दिया था। जो बताने में शर्म आ जाए। आजम खान ने विरोध में आवाज़ उठनी शुरु हो गई है। स्मृति ईरानी से पहले ही सदन से निलंबित करने का आग्रह किया था। जिसमें रविशंकर प्रसाद ने भी यहीं मांग की थी। वही अब सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने रमा देव पर की गई अमर्यादित टिप्पणी के बाद निंद व्यक्त की है। सिद्धार्थनाथ सिंह शनिवार को प्रयागराज में प्रवास कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि आजम खान द्वारा की गई टिप्पणी गई बेहद निंदनीय है। इसके लिए माफी भी बहुत छोटी चीज है। आजम खान को केवल दंडित किया जाना काफी नहीं बल्कि उन्हें सदन से निष्काषित कर देना चाहिए। और सार्वजनिक रूप से भर्त्सना भी की जानी चाहिए। ये पहली बार नहीं की जब आजम खान ऐसी कोई हरकत की हो। वो पहले भी ऐसी कई हरकत कर चुके है।

गौरतलब है कि बीते दिन लोकसभा जब रमा देवी सदन की चेयर पर बैठी थी सदन में तीन तलाक बिल को लेकर चर्चा हो रही थी। इसी बीच अपने आजम खान ने सदन में शेर पढ़ दिया जिसमें रोके जाने के बाद आजम खान अभद्र टिप्पणी कर दी। आजम खान ने कहा कि ‘मेरा जी..करता में आपकी आंखों में देखता रहूं रमा जी’… इस रमा देवी के टॉकने के बाद आमज खान रमा देवी को बहन बहन कहने लगे।

इसके बाद स्मृति ईरानी ने आजम खान को सदन से निलंबित करने की मांग की और कहा कि आजम खान सभी सांसद पुरुषो के नाम धब्बा है। सभी आजम खान के बयान को लेकर काफी हंगामा हुआ। सभी ने आजम खान को दंड देने के लिए स्पीकर से अग्रह किया है। लेकिन आजम खान ने अभी तक माफी भी नहीं मांगी है। आजम खान के सपोर्ट में उनकी पत्नी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बचाव किया है।

 

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here