Saturday, January 23, 2021
Home देश संबोधन खत्म होते ही कांग्रेस ने PM को घेरा, कहा- 'चीन का...

संबोधन खत्म होते ही कांग्रेस ने PM को घेरा, कहा- ‘चीन का जिक्र करने से भी मोदी डरते…’

अनलॉक 2.0 के लागू होने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को पूरे देश की जनता से मुखातिब हुए. उन्होंने अपने संबोधन में कई तरह की बातें की. साथ ही कोरोना वायरस के इस प्रकोप में लॉकडाउन को लेकर दिए जा रहे छूट के बारे में भी पीएम मोदी ने अपने संबोधन में जिक्र किया. फिलहाल PM मोदी के इस संबोधन से पहले इस तरह की उम्मीद की जा रही थी कि वो भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव का जिक्र करेंगे. लेकिन कयास के मुताबिक कुछ भी नहीं हुआ. संबोधन में चीन का जिक्र न सुनने पर फिर से कांग्रेस बौखला सी गई है. जिसका अंदाजा हाल ही में आए ट्वीट से आप लगा सकते हैं. दरअसल इस बात को लेकर कांग्रेस पार्टी ने सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है.

ये भी पढ़ें:- खत्म हुआ PM मोदी का संबोधन..आत्मनिर्भर भारत और कोरोना सहित इन मसलों का किया जिक्र, जानें यहां सबकुछ

कांग्रेस का कहना है कि चीन की आलोचना करना संबोधन में भूल जाएं, अपने राष्ट्रीय संबोधन में इसका जिक्र करने से भी पीएम डरते हैं. इसके साथ ही पार्टी ने अपने ट्वीट में ये भी कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन कोई सरकारी अधिसूचना हो सकती थी. इतना ही नहीं बीजेपी पर निशाना साधने के लिए कांग्रेस ने ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर भी साझा की है. जिसमें चीन को लेकर कई सारी बातें दर्ज हैं. जो फोटो कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए साझा किया है, उसमें लिखा है कि, चीन भारत की सीमा में 423 मीटर तक घुसपैठ कर गया. इतना ही नहीं कांग्रेस के आंकड़ों की माने तो, 25 जून तक भारतीय सीमा में चीन के 16 टेंट और टरपॉलिन हैं. इसके साथ ही चीन का एक बड़ा शेल्टर है, और लगभग 14 गाड़ियां हैं.

इस आंकड़े के साथ ही कांग्रेस ने मौजूदा सरकार से सवाल पूछते हुए कहा है कि क्या प्रधानमंत्री इसे नकार सकते हैं? और तो और कांग्रेस की ओर से ये भी कहा गया है कि भारत को इस समय ऐसे नेता की आवश्यकता है जो अपनी असफलता को माने और उसमें सुधार की गुंजाइश बची हो. लेकिन ऐसे नेता की आवश्यकता नहीं है जो परेशानियों को छोड़कर उस पर बात करने से भी कतराए. आगे अपने ट्वीट में कांग्रेस ने इस बात पर खुशी जताई है कि प्रधानमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अपील पर ध्यान दिया. जिसमें गरीबों को मुफ्त अनाज देने की योजना को आगे बढ़ाने की मांग की गई थी. इसके अलावा संबोधन से पहले भी राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला बोला था. जिसमें उन्होंने चीन के साथ बढ़ रहे तनाव और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर सवाल पूछा था.

ये भी पढ़ें:- पीएम मोदी का मास्टर स्ट्रोक! पहले चीनियों की तोड़ी गर्दन, अब इस सर्जिकल स्ट्राइक से किया कंगाल

Most Popular