सेना अधिकारी ने दी चेतावनी, कुछ ही घंटों में चीन की सीमा में घुस सकते हैं भारतीय जवान

765
Indian army enter china area

भारत-चीन (India-China) के बीच खिंचातनी का माहौल अभी तक शांत नहीं हुआ है. सीमा पर कई महीनों से हलचल जारी है. बीते कई दिनों से लगातार चीन की ओर से एलएसी (LAC) पर घुसपैठ का प्रयास किया जा चुका है, लेकिन इसके जवाब में चीनी सैनिकों को सिर्फ भारतीय सैनिकों (Indian Army) के आगे मुंह की खानी पड़ी है. चीन की ऐसी कई कोशिशों को अब तक जवान नाकाम कर चुके हैं. जिसे लेकर चीन बौखलाया हुआ है. या यूं कहें कि चीन के आत्मसम्मान को ठेस पहुंची है. इसके बाद से लगातार ड्रैगन भारतीय सैनिकों को सीमा पर उकसाने को लेकर बयान देता रहा है.

ये भी पढ़ें:- अब इस नए देश पर चीन ने डाला दबाव, तो भड़के ब्रिटेन के PM ने ड्रैगन के खिलाफ उठाई ये मांग, जानें वजह

इसी बीच चीन की ओर से फिर अंधेरे में तीर छोड़ा गया है. दुनिया को दिखाने के लिए चीन ने फिर बयानबाजी की चाल चली है. दरअसल पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी को चेतावनी देते हुए चीन के रिटायर जनरल वांग होंगगुआंग ने एक और बयान देकर सनसनी मचा दी है. उन्होंने चीनी सैनिकों को भारतीय सेना से अलर्ट रहने की सलाह दी है. साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट में पब्लिश हुए लेख में रिटायर्ड जनरल की ओर से ये लिखा गया है कि, चीन बॉर्डर पर एक लाख भारतीय सैनिकों को तैनात किया गया है. इसलिए चीन हमले के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाए. क्योंकी भारत की तरफ से किसी भी समय हमला किया जा सकता है. जनरल ने तो लेख में ये भी लिख दिया है कि, भारतीय सेना कभी भी कुछ घंटों में चीन की सीमा में दाखिल हो सकती है.

जनरल की ओर से ये लेख ली जियान पर पोस्ट किया गया था. जो एक सोशल मीडिया अकाउंट है. ये अकाउंट चीन के रक्षा मसलो से संबंधित है. जिसके जरिए रिटायर जनरल ने दावा ठोका है कि भारत ने पूर्वी लद्दाख में अपने सैनिकों की संख्या को दोगुना कर दिया है. आपको बता दें कि ये आर्टिकल ऐसे समय में आया है, जब भारत और चीन के बीच 21 सितंबर को कोर कमांडर वार्ता की मीटिंग हुई थी. इस बैठक में दोनों देशों के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच जिन विषयों को लेकर समझौता हुआ है उसे ध्यान में लाया जाए. साथ ही मीटिंग में ये भी सहमति बनी है कि अब लद्दाख में और जवानों की तैनाती नहीं की जाएगी.

इतना ही नहीं होंगगुआंग ने तो ये भी लिख दिया है कि, ‘भारत की ओर से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर जवानों की संख्या को दोगुना या तिगुना कर दिया गया है. जो चीनी सीमा से सिर्फ 50 किलोमीटर की दूरी पर हैं. इसलिए ये भारतीय सैनिक आसानी से कुछ ही घंटों में चीन की सीमा में घुस सकते हैं.’

ये भी पढ़ें:- चीन और पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेना हुई तैयार, महज 4 मिनट में PAK में मच सकती है तबाही