सेना के हाथ लगी ‘एटीजीएम मिसाइल’, युद्ध में दुश्मनों के टैंक होंगे पलभर में ध्वस्त

0
229

भारतीय सेना के बेड़े में अब एक और खतरनाक मिसाइल शामिल हो गई है। जिससे दुश्मनों की नींद सच में उड़ गई है। भारतीय सेना ने मध्यप्रदेश के महू में स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (एटीजीएम) का सफल परीक्षण किया। इस दौरान सेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने भी मौजूद थे। इस मिसाइल को इस्राइल की रॉफेल एडवांस डिफेंस सिस्टम ने विकसित किया है। जो आर्मस टैंक को भी नष्ट करने में सक्षम है। इस मिसाइल के दम पर भारतीय सेना युद्ध के दौरान दुश्मन देश के टैंक भी पूरी तरह नष्ट कर देंगे। यानी की पलक झपकते ही दुश्मन देश आधी लड़ाई ऐसे ही हार जाएगा।

हालांकि एटीजीएम मिसाइल तीन तरह की होती है। पहली मैन पोर्टेबल है। जिसमें कंधे पर आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है। दूसरी टैंक में माउंट मिसाइल और तीसरी हेलिकॉप्टर या लड़ाकू जहाज में माउंट मिसाइल। अब सवाल ये बनता है कि ये मिसाइल काम कैसे करती है। तो आपको बता दे कि ये मिसाइल अन्य गाइडेड मिसाइल के पैट्रन पर ही कार करती है। इसके लिए मिसाइल में किसी निश्चित टॉरगेट के सही कोर्डिनेट पहले फिट किए जाते हैं। फिर उसे फायर किया जाता है। जिसके बाद ये पूरी तरह सही लक्ष्य को भी भेद कर अपना काम खत्म करती है।

भारतीय सेना में काफी समय पहले ही इस मिसाइल की मांग थी। लेकिन फिर भी कई बार मिसाइल की डील को रद्द किया गया। हालांकि डीआरडीओ ने मार्च 2019 में स्वदेशी एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का परीक्षण किया था लेकिन विकास की अवस्था में होने के चलते सेना ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया।

ये भी पढ़ें:-भारतीय सेना ने Pok से आतंकी कैंपों को उड़ाया, इज्जत बचाने के लिए पाक देने लगा सफाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here