Friday, December 3, 2021

JAMMU-KASHMIR वासियों को अमित शाह ने दिलाया भरोसा, अब अन्याय का दौर खत्म

Must read

- Advertisement -

श्रीनगर /दिल्ली। गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर वासिायों को भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि धारा 370 हटने के बाद मैं पहली बार जम्मू कश्मीर आया हूं। आज मैं आपसे ये कहने आया हूं कि जम्मू कश्मीर वालों के साथ अन्याय का समय खत्म हो चुका है। अब कोई आपके साथ अन्याय नहीं कर सकता है। अब जम्मू कश्मीर का विकास होगा और ये प्रदेश, देश को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देगा। यह बातें तीन दिनी के दौरे पर जम्मू कश्मीर पहुंचे अमित शाह के दौरे का दूसरा दिन रविवार को कही। इस दौरान अमित शाह ने जम्मू में कई योजनाओं का शिलान्यास किया।
अमित शाह ने कहा कि 5 अगस्त 2019 को प्रधानमंत्री मोदी ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए अनुच्छेद 370 और 35ए को खत्म किया। इस निर्णय से जम्मू-कश्मीर के लाखों लोगों को अपने अधिकार प्राप्त हुए हैं। अब भारतीय संविधान के सभी अधिकार यहां के सभी लोगों को मिल रहे हैं।

- Advertisement -

Amit Shah

सभी संविधान के अधिकार मिल रहे

अमित शाह ने कहा कि पहले जम्मू में सिखों, खत्रियों, महाजनों को भूमि खरीदने का अधिकार नहीं था। जो शरणार्थी वहां से यहां आए थे, उनके अधिकार नहीं थे, वाल्मीकि, गुर्जर भाइयों के अधिकार नहीं थे। भारत के संविधान के सभी अधिकार अब मेरे इन भाइयों को मिलने वाले हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर अब देश के विकास में योगदान देगा। अमित शाह ने कहा कि एक जमाना था कि जम्मू-कश्मीर में कहने को पांच मगर चार ही मेडिकल कॉलेज थे। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अब सात नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना हो चुकी है। पहले 500 स्टूडेंट्स यहां से एमबीबीएस कर सकते थे। अब लगभग 2,000 छात्र यहां एमबीबीएस कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा मिलेगी।

मोदी सरकार ने 55000 करोड़ का पैकेज दिया

अमित शाह ने कहा कि मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए 55,000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया था। आज 55,000 करोड़ रुपये के पैकेज में से 33,000 करोड़ रुपये खर्च हो चुका है, विकास की 21 योजनाएं पूरी हो चुकी है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि जम्मू-कश्मीर में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

तीन परिवारों के 7 दशकों का मांगा हिसाब

अमित शाह ने कहा, मैं उनका नाम नहीं लेना चाहता हूं लेकिन जम्मू कश्मीर में तीन परिवारों का शासन रहा है। ये लोग मेरे दौरे पर मजाक उड़ा रहे थे कि मैं क्या निवेश लाया हूं। उन्होंने कहा कि भाई मैं तो हिसाब लेकर आया हूं कि क्या देकर जाऊंगा। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि आप लोगों ने 7 दशकों में क्या किया। जम्मू कश्मीर हिसाब मांग रहा है। मोदी सरकार में सभी के साथ न्याय होगा, किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा।

यह भी पढ़ेंः-आतंकवाद और कट्टरता पर अमित शाह ने अधिकारियों से मांगे जवाब, जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा पर सख्ती

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article