globe master

काबुल / दिल्ली। अफगानिस्तान में आतंकी सगठन तालिबान की वापसी हो गई है। अफगानिस्तान के हजारों लोग दूसरे देशों में भागकर शरण लेने की कोशिश कर रहे हैं। काबुल के एयरपोर्ट पर अफरातफरी है। भारत, अमेरिका समेत अन्य देशों ने भी अपने लोगों को वापस बुलाना शुरू कर दिया है। भारतीय एयरफोर्स का सी-17 ग्लोबमास्टर विमान भी अफगानिस्तान के काबुल एयरपोर्ट पर पहुंच चुका है। काबुल से अफगानिस्तान में फंसे भारतीय लोगों को एयरलिफ्ट किया जाएगा। बताया जा रहा है कि भारत के करीब 500 अफसर और सिक्योरिटी से जुड़ा स्टाफ काबुल में है। सी-17 ग्लोबमास्टर सोमवार सुबह ताजिकिस्तान में लैंड हुआ। काबुल एयरपोर्ट पर अफरा तफरी मची थी, इसके बाद विमान काबुल में लैंड कर पाया।

दिल्ली में हुई हाई लेवल मीटिंग
अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी को लेकर दिल्ली में एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। इसमें भारतीय दूतावास और वहां रह रहे कर्मचारियों के विकल्पों और भविष्य की कार्रवाई पर चर्चा हुई। भारतीय दल अफगानिस्तान में मौजूद अधिकारियों से बात कर रहे हैं, ताकि वे भारत के लिए उड़ान भरने के लिए एयरपोर्ट आ सकें।

अपने नागरिकों को बाहर निकालने में लगे देश
अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड समेत अन्य देश भी अफगानिस्तान से अपने लोगों को निकालन रहे हैं। काबुल एयरपोर्ट पर कई देशों की सेना मौजूद है जो अपने नागरिकों को निकालने के लिए आई है। अमेरिका ने हाल ही में अपने लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए 5000 सैनिकों को भेजने का फैसला किया है।

भारत ने अफगानिस्तान के लिए फ्लाइटें की रद्द
काबुल एयरपोर्ट पर गंभीर होते हालात और एयरस्पेस की बेकाबू स्थिति के कारण सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया। काबुल में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए दोपहर 12.30 बजे एयर इंडिया की एक फ्लाइट जानी थी लेकिन इस वक्त के हालात को देखते हुए उड़ान को रद्द कर दिया गया है। भारत ने अफगानिस्तान के एयरस्पेस का इस्तेमाल भी रोक दिया हैं। अमेरिका-दिल्ली के बीच एयरइंडिया की फ्लाइट जो उड़ान भर रही हैं, वह अब अलग रूट का इस्तेमाल करेंगी। सभी फ्लाइट कतर और यूएई से दिल्ली आएंगी।

यह भी पढ़ेंः-जम्मू-कश्मीर पर भी पड़ेगा तालिबान का असर, पाकिस्तान फिर कर सकता है ऐसी साजिश