चीन को डिजिटल झटका देने के बाद भारत ने तैयार किया एक और प्लान, जानें ड्रैगन को कैसे करेगी बर्बाद!

0
622
India-China

चीन की दादागिरी का मोदी सरकार ने जवाब देना शुरू कर दिया है. ऐसे में जाहिर सी बात है कि अब चीन की बौखलाहट और तेज हो सकती है. लेकिन 59 चाइनीज ऐप को बैन करने के बाद भारत चीन को एक और झटका देने की तैयारी में लगा है. डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए चीन पर और गाज गिराने के लिए भारत सरकार ने पूरी प्लानिंग तैयार कर ली है. ऐसे में ये आशंका जताई जा रही है कि 59 ऐप्स को भारत में बैन करने के बाद मोदी सरकार गूगल और इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स से भी जुड़े ऐप हटाने के निर्देश दे दिए हैं. इसके साथ ही ये भी खबर आ रही है कि सरकार चीन को आगे भी डिजिटल प्लेटफॉर्म के तहत एक के बाद एक झटका दे सकती है. यानी कि यदि ऐसी कोई सिचुएशन फिर से आती है तो मोदी सरकार आने वाले समय में भी चीनी ऐप पर पाबंदी लगा सकती है.

ये भी पढ़ें:- चीन पर मोदी सरकार ने चलाई डिजिटल स्ट्राइक, Tiktok समेत इन 59 ऐप को किया गया बैन

आपको बता दें कि 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा 29 जून को मोदी सरकार की ओर से की गई थी. जिसमें चीन का सबसे पॉपुलर ऐप टिकटॉक का भी नाम शामिल है. इस ऐप के अलावा इसमें शेयरइट जैसे कई बड़े ऐप्स भी हैं जिन्हें प्रतिबंध का सामना करना पड़ा रहा है. सरकार का कहना है कि इन ऐप के जरिए भारतीय नागरिकों की गोपनीयता पर संकट आ रहा था. साथ ही देश की संप्रभुता और अखंडता को भी खतरा था. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए इन चाइनीज ऐप पर बैन लगाया गया है.

इतना ही नहीं सरकार की ओर से ये भी दावा किया जा रहा है कि इन ऐप्स के जरिए हमारे देश से जुड़ी जानकारी दूसरे देशों तक भी पहुंचाई जा रही थी. जो किसी भी देश की प्राइवेसी के लिए सही नहीं है. ऐसे में ये सब जानते हुए भी इन चीनियों पर भरोसा करना खतरे से कम नहीं था. इसके अलावा सरकार ने ये भी स्पष्ट तौर पर साफ कर दिया है कि यदि आगे भी ऐसा पाया गया कि कोई ऐप देश हित के खिलाफ है तो ऐसे में उस ऐप के खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है.

ये भी पढ़ें:- चीन में मिला एक और खतरनाक वायरस, बन सकती है कोरोना से बड़ी महामारी, जानिए लक्षण