रेलवे में भर्ती को लेकर हुआ नया ऐलान, जानें किसकी नौकरी सुरक्षित और किसे धोना पड़ेगा हाथ!

203
railway recruitment 2020

कोरोना कहर के चलते इस बार सभी सेक्टरों से जुड़ी भर्तियां अभी बंद पड़ी हैं. इसमें रेलवे सेक्टर का नाम भी शामिल हैं. जिससे जुड़ी कुछ खबरें ऐसी भी आ रही हैं कि काफी लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है. यहां तक कि रेलवे में भर्ती को लेकर भी लोग असमंजस में पड़े हुए हैं. इसी बीच इन सभी खबरों पर चुप्पी तोड़ते हुए रेलवे डीजी (एचआर) आनंद एस खाती (Anand S Khati , DG ( HR) railways) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. जिसमें उन्होंने बताया है कि रेलवे में न तो किसी शख्स की नौकरी छीनी जाएगी और न ही भर्तियों में कोई कमी हो रही है. इसके साथ ही उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि ट्रेन संचालन और रख-रखाव के लिए जरूरी किसी भी सुरक्षा श्रेणी की नौकरियों को सरेंडर नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़ें:- रेलवे जॉब पर पीयूष गोयल का बयान, कहा- 63,000 वैकेंसी पर 1.89 करोड़ लोगों ने किया था आवेदन, जल्द होगी परीक्षा

आनंद एस खाती के मुताबिक गैर-सुरक्षा के रिक्त पोस्ट को सरेंडर करने से रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़े नए प्रोजेक्टों के लिए और भी ज्यादा सेफ्टी वाली वैकेंसी निकालने में मदद मिलेगी. उन्होंने ये भी बताया कि रेलवे में प्रयोग की जा रही आधुनिक टेक्नोलॉजी के तहत भी नए सेक्टर्स तैयार हो रहे हैं. जिसमें संसाधनों का सही तरीके से इस्तेमाल करना ज्यादा जरूरी है. यही वजह है कि कई स्तर के पदों से जुड़े भर्ती अभियान अभी हमेशा की तरह जारी रहेगा. साथ ही रेलवे में नौकरियों को लेकर कोई कटौती भी नहीं की जाएगी.

आगे उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ये भी बताया कि, रेलवे से जुड़ा 65 प्रतिशत खर्चा कर्मचारियों के वेतन और पेंशन पर होता है. इतना ही नहीं उन्होंने ये भी जानकारी दी कि रेलवे की ओर से साल 2019 में जो 1,46,640 पोस्ट के लिए भर्ती निकाली गई थी उससे जुड़े प्रोसेस पर रोक नहीं लगाई गई है. बल्कि अभी भी वो ऐलान के मुताबिक जारी रहेगा. यानी कि इस बात से साफ हो जाता है कि सरकार ने नौकरी को लेकर जो घोषणा की थी उसमें कोई चेंजेज नहीं किए गए हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि 68 हजार नॉन सेफ्टी कैटेगरी में भर्ती अभी खाली है. जिसका रिव्यू किया जा रहा है. गौरतलब है कि मार्च से ही लागू देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से रेलवे को भारी मात्रा में नुकसान उठाना पड़ा है.

दरअसल शुक्रवार को कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की ओर से दावा किया जा रहा था कि भारतीय रेलवे (Indian Railway) की ओर से सेफ्टी को छोड़कर बाकी सभी नए पदों के लिए आवेदन कैंसिल कर दिए गए हैं. इसलिए अगले आदेश तक रेलवे से जुड़ी कोई नई भर्तियां नहीं होगी. लेकिन अब जो मंत्रालय की ओर से जानकारी सामने आ रही है, उसकी माने तो पिछले 2 सालों में जो पद अभी रिक्त हैं उनकी समीक्षा की जाएगी. सेफ्टी कैटेगरी को छोड़कर 50 फीसदी पदों के लिए वैकेंसी नहीं निकाली जाएंगी.

ये भी पढ़ें:- रेलवे का यात्रियों को बड़ा तोहफा, बहुत जल्द पटरी पर दौड़ेंगी नई 90 स्पेशल ट्रेनें, देखें लिस्ट