कोरोना संकट में इस कंपनी ने शुरू की रोजगार पहल, 30 हजार लोगों को देगी जॉब

37

देश में कोरोना संकट का दौर अपने चरम पर है, जिसके चलते अधिकांश राज्यों में लॉकडाउन की स्थित बनी हुई है। महामारी के इस दौर में लोगों को आर्थिक समस्याओं का भी सामना करना पड़ा है। इतना ही नहीं पिछले छह महीने से देश में कंटीन्यूअसली लॉकडाउन लगाया जा रहा है। जिसका एकतरफा असर देश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है। बता दें कि कोरोना संकट में लाखों लोगों की नौकरियों छिन गई, कॉर्पोरेट सेक्टरों को मंदी के दौर से गुजरना पड़ रहा है। बेरोजगारी का आलम अपने चरम पर पहुंच गया है। ऐसे में जो लोग बेरोजगार हुए हैं, उन लोगों के लिए ईकॉम एक्सप्रेस कंपनी आने वाले कुछ सप्ताह में 30,000 लोगों को त्योहारी मौसम के लिए रोजगार देने की योजना बना रही है। जानकारी के लिए बता दें कि ईकॉम एक्सप्रेस कंपनी एक कुरियर कंपनी है, जो सामान की डिलिवरी समेत ‘लॉजिस्टिक’ सुविधा उपलब्ध करवाती है। बताया जा रहा है कंपनी ने ई-वाणिज्य कंपनियों से त्योहारों के दौरान बढ़ी रोजगार की मांग को पूरा करने के लिए नए लोगों को नियुक्त करने की योजना बनाई है।

ये भी पढ़ें:-‘हम तो डूबे सनम तुम्हें भी ले डूबेंगे’ ड्रग पैडलर में फंसी सारा अली खान, रिया ने ले लिया नाम

बता दें कि कोरोना फैलने से पहले कंपनी के कर्मचारियों की संख्या करीब 23,000 थी. कंपनी ने ‘लॉकडाउन’ के बाद बढ़ते ‘ऑनलाइन’ आर्डर को पूरा करने के लिए पिछले कुछ महीनों में 7,500 कर्मचारियों को नियुक्त किया। इसके साथ ही कहा गया है कि ये रोजगार अस्थायी होंगे।

ईकॉम एक्सप्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और मुख्य मानव संसाधन अधिकारी सौरभ दीप सिंगला ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘महामारी ने ई-कॉमर्स उद्योग को एक अलग मुकाम पर पहुंचा दिया है.” त्योहारों के दौरान हमारे ई-वाणिज्य ग्राहक काफी आक्रमक योजना बना रहे हैं और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वे मांग को पूरा कर सके. इसके लिए हमने ये नियुक्तियां शुरू की हैं।

सिंगला ने कहा कि ईकॉम एक्सप्रेस जो नियुक्ति करेंगी, वह महानगरों के अलावा छोटे शहरों में भी होगी. इसके लिए कंपनी ने फ्लिपकार्ट, वालमार्ट और अमेजॉन को भी अपने साथ मिलाया है। ताकि त्योहारों के समय आर्डर को बेहतर तरीके से प्रबंधित किया जा सके।

मालूम हो कि पूरा देश इस समय महामारी से जूझ रहा है, लोगों पर आर्थिक संकट का कहर भी बरप रहा है। ऐसे में अगर ईकॉम एक्सप्रेस कंपनी ने देश में रोजगार की पहल को आगे बढ़ाया है, तो इससे कई लोगों का जीवन आसान हो जाएगा। वाकई कंपनी का यह कदम बेहद सराहनीय है।

ये भी पढ़ें:-UP: संविदा के तहत दी जाएगी सरकारी नौकरी, योगी आदित्यनाथ ने विभागों से मांगे सुझाव