सर्दियों में बढ़ेगा कोरोना का ग्राफ! WHO ने बताया- इन देशों में बढ़ेगा डेथ रेट

159

दुनियाभर में कोरोना महामारी का दौर अपने चरम पर है, महामारी के आंकड़े प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। हालांकि कोरोना के मद्देनजर लागू हुए लॉकडाउन का चिल्लू-भर भी असर इस पर नहीं पड़ा, लेकिन कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि यह महामारी अभी और भयावह रूप ले सकती है। वहीं इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक बार फिर कोरोना से सावधानी बरतने को लेकर चेतावनी जारी की है। बताया जा रहा है कि सर्दियों के मौसम में कोरोना मरीजों के केस आउट ऑफ कंट्रोल हो सकते हैं। सर्द मौसम में स्थिति को नियंत्रण करना बेहद मुश्किल होगा, चूंकि जिस तरीके से कोरोना केसेज में रोजाना इजाफा देखने को मिल रहे हैं, उससे डेथ रेट भी आगे बढ़ने की संभावना है। यूरोप में WHO के रीजनल डायरेक्टर ने कहा सर्दियां आते ही यूरोप समेत दुनियाभर के देशों में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है. एक्सपर्ट ने सर्दियों से पहले लोगों को तैयार रहने की सलाह भी दी है।

ये भी पढ़ें:-बन गई कोरोना की वैक्सीन! पहले ट्रायल में वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता

WHO के रीजनल डायरेक्टर हंस क्लग कहना है कि, सर्दियों के मौसम में युवा आबादी बुजुर्गों के ज्यादा नजदीक होगी. ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा काफी ज्यादा रहेगा. हालांकि इसे लेकर हम कोई भविष्यवाणी नहीं करना चाहते.

लेकिन निश्चित तौर पर यह एक ऐसा समय होगा, जब अस्पतालों में मरीजों की संख्या चार गुना बढ़ जाएगी और मृत्युदर में भी इजाफा होगा।

क्लग ने कहा कि WHO के यूरोपीय क्षेत्र के 55 में से 32 राज्यों और क्षेत्रों में 14 दिनों की घटना दर में 10 फीसदी से अधिक वृद्धि देखी गई है. हालांकि क्लज ने यह भी कहा कि हेल्थ ऑथोरिटीज फरवरी की तुलना में ज्यादा तैयार और

मजबूत स्थिति में है. ये वो समय था जब कोरोना के मामलों में तेज उछाल और मौतों के आंकड़े काफी बढ़ रहे थे.

हाल ही में यूरोपियन ऑथोरिटीज़ ने बच्चों को वापस क्लासरूम्स में भेजने पर विचार किया है. साथ ही पैरेंट्स के वापस ऑफिस जाने पर भी विचार किया जा रहा है. फ्रांस, ब्रिटेन और स्पेन जैसे देशों में बढ़ते मामलों के बीच ऑथोरिटी मास्क

को लेकर सख्त नियम, एक्स्ट्रा टीचर्स और नए तरह के डेस्क के निर्माण पर ध्यान दे रही है। कोरोना के बढ़ते ग्राफ को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी देशों को चेताते हुए कहा है कि वह ज्यादा से ज्यादा लोगों को सावधानी बरतने पर जागरूक करें।

ये भी पढ़ें:-खत्म हुआ कोरोना वैक्सीन का इंतजार, एक्सपर्ट्स ने बताया भारत में कब होगी वैक्सीन लॉन्च!