सनकी तानाशाह किम ने देश की जनता के लिए जारी किया अजीब फरमान, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

41
kim jong un

तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong Un) को लेकर आए दिन खबरें चर्चाओं में बनी ही रहती हैं. इसी बीच एक बार फिर अपने एक अजीब फरमान सुनाने को लेकर किम जोंग सुर्खियों में हैं. जी हां हाल ही में किम ने अपने देश की जनता के बीच एक अजीब फरमान जारी किया है. जिसे देश के सभी नागरिकों को मानना है. आपको जानकर हैरानी होगी कि तानाशाह ने जो फरमान सुनाया है, वो प्री स्कूल और प्ले स्कूल के बच्चों के लिए है. जिसमें ये आदेश दिया गया है कि, स्कूल के सभी बच्चों को प्रतिदिन 90 मिनट तक किम जोंग के बारे में पढ़ाई करनी पड़ेगी. इसके साथ ही देश के सभी बच्चों को तानाशाह का गुणगान करना होगा.

ये भी पढ़ें:- किम जोंग उन की बिगड़ी हालत, ‘कोमा’ में है उत्तर कोरिया का तानाशाह, इस पूर्व राजनयिक ने बताई पूरी सच्चाई

दरअसल हाल ही में किम की ओर से जारी किए गए आदेश में प्ले स्कूल के बच्चों को कहा गया है कि वो रोज कम से कम 90 मिनट तक किम जोंग के बारे में स्टडी करें. हालांकि इससे पहले किम के बारे में स्टडी करने का समय 30 मिनट का था. लेकिन अब इस समय में पूरे 60 मिनट की बढ़ोतरी कर दी गई है. मीडिया खबरों की माने तो किम जोंग को लेकर बच्चे जो पढ़ाई करते हैं उसमें ये कहानियां बताई गई है कि किम पांच साल के थे जब वो नॉर्थ कोरिया में नाव चलाते थे. इसके साथ वो निशानेबाजी और शिकार में काफी दिलचस्पी रखते थे. इतना ही नहीं पढ़ाई में भी वो सबसे तेज स्टूडेंट रहे हैं.

फिलहाल दक्षिण कोरिया से संबंधित खुफिया एजेंसी की ओर से कहा जा रहा है कि किम यो जोंग उत्तर कोरिया की दूसरी बड़ी शख्सियत बन चुकी हैं. इसके अलावा सियोल के लोकल समाचार पत्र की ओर से जारी की गई रिपोर्ट की माने तो किम जोंग के दिए गए नए निर्देश के मुताबिक ‘ग्रेटनेस एजुकेशन’ (Greatness Education) के रूप में स्कूल सिलेबस में 25 अगस्त को ही इस फरमान को जोड़ लिया गया था. इसके पीछे की वजह ये है कि, लोग ‘उत्तर कोरिया के शासक के प्रति अपनी पूरी निष्ठा और विश्वास रखें.’

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नॉर्थ कोरिया में प्री-स्कूल ज्यादातर सुबह 9 बजे से लेकर 12 बजे तक की क्लास लेते हैं. यानी पूरे तीन घंटे तक बच्चों को पढ़ाया जाता है. 3 घंटे की पढ़ाई में बच्चे बच्चे शारीरिक शिक्षा (Physical Education) से लेकर खेलने और कोरियाई वर्णमाला (Korean Alphabet) के बारे में पढ़ते हैं. फिलहाल नए फरमान को लेकर अभी नॉर्थ कोरिया के शिक्षक भी परेशान हैं कि आखिर इस 3 घंटे के अंतराल में वो किम जोंग उन की महान गाथा के लिए कैसे अलग वक्त निकालेंगे.

ये भी पढ़ें:- किम जोंग की गैरहाजिरी में ये हमशक्ल करते हैं उनका काम, किम के अलावा इन नेताओं के भी हैं डुप्लीकेट!