afgan girl

काबूल। अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होने दुनिया में दहषत शुरू हो चुकी है। तालिबान से सबसे ज्यादा चिंतित महिलाएं हैं, जिन्हें तालिबान के सख्त कानूनों का डर सता रहा है। अफगान की एक पूर्व महिला पुलिस अधिकारी ने तालिबान की अगली चाल का खुलासा किया। इस पूर्व पुलिस अधिकारी ने बताया कि तालिबान पूरी तरह से आतंक फैला रहा है। तालिबान दूसरी तरफ सुरक्षित शासन का वादा कर रहा है, जो उसकी बड़ी चाल है। अंतराष्ट्रीय दबाव से बचने के लिए तालिबान दोहरे रंग दिखा रहा है। पूर्व अफगान पुलिस महिला अधिकारी ने अपना नाम गोपनीय रखते हुए कहा कि ‘हम इस दुनिया के जहन्नुम में रहते हैं। मुझे इस स्थिति से नफरत है। मैं इस परिस्थिति और स्थिति में जीने की तुलना में मौत को पसंद करती हूं। उन्होंने बताया कि तालिबान का टारगेट अब पिछली सरकार से जुड़ी महिला अधिकारी हैं। अब काबुल पर तालिबान का कब्जा होते महिलाओं ने देश का तेजी से छोड़ा है। उन्होंने बताया कि काबुल में किराये के घर में रहती थी लेकिन उसे डर था कि तालिबान पुलिस स्टेशन पर कब्जा करने के बाद उसे ट्रैक कर लेगा। इसलिए उन्होंने जल्द से जल्द काबुल को छोड़ दिया।

kabul girl

तालिबान द्वारा मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर महिलाओं को लेकर संदेश दिया। तालिबान के खौफ से महिलायें डरी हैं। केवल बूढ़ी महिलाएं ही आपातकालीन जरूरतों के लिए बाहर जा सकती हैं। ज्ञात हो कि तुर्की में प्रशिक्षित होने के बाद इस महिला अधिकारी को काबुल में एक कंप्यूटर विशेषज्ञ और कार्यालय प्रशासक के रूप में तैनात किया गया था। काबुल में तालिबान के पहुंचते ही वह छिप गईं थीं। तालिबान ने उन सभी कार्यालयों पर नियंत्रण कर लिया है, जहां अफगान राष्ट्रीय पुलिस की डिजिटल फाइलों वाले हार्डवेयर रखे जाते हैं। गोपनीय फाइलें तालिबान के हाथ आते ही दुनिया के लिए संकट बढ़ गया है।

पूर्व पुलिस अधिकारी ने कहा कि उन्हें तालिबान के इस दावे पर कोई भरोसा नहीं है कि महिलाएं समाज में ‘बहुत सक्रिय’ भूमिका निभाएंगी। पूर्व तालिबान में महिलाओं के लिए बेहद ही क्रूर नियम थे। नए युग में जहरा उन प्रशासनिक सेवाओं का हिस्सा रहीं, जिसके लिए तालिबान द्वारा सिर काटना और सार्वजनिक रूप से पत्थर मारकर हत्या करने की सजा शामिल है। उन्होंने कहा कि तालिबान अपने प्रतिशोध और अपराधों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समुदाय के गुस्से से सिर्फ बचना चाहता है। तालिबान अपना दोहरा चरित्र छिपना चाहता है। अब ब्रिटेन के आपातकालीन पुनर्वास कार्यक्रम के तहत अफगानिस्तान से बाहर निकल सकती हैं। यह महिला अधिकारी अभी काबुल हवाई अड्डे से लगभग 150 मील दूर है, जहां तालिबान द्वारा यात्रियों के पासपोर्ट फाड़ने और लोगों को कोड़े मारने की खबरें सामने आ रही हैं।

यह भी पढ़ेंः-तालिबान के हाथ लगा घातक अमेरिकी हथियारों का जखीरा, मचा सकते हैं तबाही