रामल्लाह। इजराइल (Israel) और फिलिस्तीन (Palestine) के सीजफायर के बीच विवाद तेजी से बढ़ गया है। एक बार फिर वेस्ट बैंक (West Bank) में इजराइली सैनिकों (Israeli Soldiers) के साथ संघर्ष में 113 फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारी घायल हो गए। फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों के घायल होने पर तनाव बढ़ गया है। स्थानीय रिपोर्टों के आधार पर बताया कि संघर्ष शुक्रवार को उस समय शुरू हुआ जब इजराइली सैनिकों ने नॉर्थ वेस्ट बैंक के शहर नब्लस के दक्षिण में स्थित बेइता गांव में एक समझौता विरोधी रैली को तितर-बितर किया। समझौता विरोधी रैली को एक साजिश के तौर पर देखा जा रहा है। मौके पर उपस्थिति चश्मदीदों ने बताया कि सैनिकों पर पथराव करने वाले प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए कार्रवाई करनी पड़ी। प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए इजराइली सैनिकों ने आंसू गैस के गोले छोड़े। विरोध के बाद रबर की गोलियां और गोला बारूद दागे गये। गांव के पास जबल सबीह माउंटेन पर शुक्रवार दोपहर को रैली का आयोजन यहूदियों को बसाने के लिए एक समझौता चैकी स्थापित करने की तैयारी के विरोध में किया गया था।

यहूदियों के बसाने का विरोध हो रहा था। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि चैकी स्थापित करने के लिए पहाड़ के अधिग्रहण के प्रस्ताव के रूप में इजराइल ने पहाड़ पर 20 से ज्यादा मोबाइल टॉवर लगाए हैं। प्रदर्शनकारी इन टाॅवरों को पसन्द नहीं कर रहे हैं। फिलिस्तीनी रेड क्रिसेंट सोसाइटी के आपातकालीन विभाग के डायरेक्टर अहमद जिब्रील ने बताया कि गोला बारूद से घायल हुए 16 फिलिस्तीनियों को अस्पतालों में ले जाया गया। रबर की गोलियों से 20 लोग घायल हुए हैं।

चार को सैनिकों ने पीटा और 73 लोगों को आंसू गैस से सांस लेने में तकलीफ हुई। उनमें से एक की गर्दन पर गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायलों को अस्पताल पहुचा दिया गया है। ज्ञात हो कि हर शुक्रवार को दर्जनों फिलिस्तीनी वेस्ट बैंक के विभिन्न क्षेत्रों में बस्तियों के विस्तार, घरों को ध्वस्त करने और जमीनों को जब्त करने की इजराइल की योजनाओं के खिलाफ प्रदर्शन करते हैं। इस दौरान इजरायल के सैनिकों पुसिल के साथ फिलीस्तिीन का टकराव भी देखने को मिलता है।

ये भी पढ़ेंः-बचाओ-बचाओ : इजराइल के जवाबी हमले के बाद फिलीस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास अब ऐसे लगाने लगे गुहार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here