मोदी-ट्रंप की मुलाकात के बाद पाकिस्तान का टूटा कश्मीर सपना, देखें वीडियो

0
250
narendra-modi-donald-trump

भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान के अरमानों पर पानी फिर गया है। एक महीने पहले जब इमरान खान अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप से मिले थे। तो ट्रंप ने कश्मीर मुद्दे पर कुछ ऐसा कहा दिया जिससे पाक पीएम इमरान खान खुश हो गए थे। लेकिन इमरान को शायद अंदाजा नहीं था कि उसने भारत से पंगा लिया है। पीएम मोदी अपने तीन देशों के दौरे पर थे यूएइ बहरीन के बाद फ्रांस में G-7 सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे। जहां पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप मिले। यहां कई मुद्दों पर दोनों की आपस में बात हुई है। जिसमें कश्मीर का मसला भी शामिल था।

फ्रांस में हुई G-7 सम्मेलन के इतर डोनाल्ड ट्रंप और नरेंद्र मोदी मिले तो सबकी जनर इस मुलाकात पर ही ठीकी रही। इम बैठक में पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने कई मुद्दों पर बात की तो वही ट्रंप कश्मीर मुद्दे पर यू-टर्न मार लिया। ट्रंप ने कहा कि ये दोनों देशों का आपसी मामला है दोनों को सुलझाना होगा। अन्य देश इसमें कोई मदद नहीं कर सकते है। ट्रंप ने कहा कि पीएम मोदी ने बात करते हुए बताया कि कश्मीर में शांति का माहौल कायम है। मुझे उम्मीद है इस जल्द ही दोनों देश साथ बैठकर बात करेंगे।

तो वही पीएम मोदी ने कहा कि भारत गरीबी लड़ रहा है बीमारियों से लड़ रहा है। पाकिस्तान को भी गरीबी और बीमारियों से लड़ने की जरूरत है। मैं समझता हूं कि पाकिस्तान और भारत को साथ मिलकर गरीबी और बीमारियों से लड़ने की जरूरत है। आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए घातक है। तो वही पीएम मोदी ने कश्मीर मुद्दे पर कहा कि ये दोनों देशों का आपसी मामला है। हम किसी तीसरे देश को कष्ट नहीं देना चाहते। ये सब बातें पीएम मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पत्रकारों से बात करते हुए की है।

पीएम मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात के बाद से पाकिस्तान का कश्मीर सपना टूट गया है। इससे पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 22 जुलाई को इमरान खान जब अमेरिका गए थे। तो इमरान खान से मुलाकात कर ट्रंप ने कहा था कि भारत इस मामले में मध्यस्थता कराना चाहते है। लेकिन भारत ने ट्रंप कि इस बात का खंडन किया। भारत ने कहा कि ये हमारा मसला है आप कष्ट ना ही करें तो अच्छा है। उसके बाद जब 26 अगस्त को पीएम मोदी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिले तो ट्रंप ने कश्मीर पर यू-टर्न मारते हुए कहा कि ये दोनों देशों का आपसी मामला है। जिसके बाद से मानों पाकिस्तान का हर वो सपना टूट गया जिसकी वो उम्मीद अमेरिका से लगाए बैठा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here