अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट में डाला गया, आतंकवाद को समर्थन देने का आरोप

0
195
pakistan black-listed

पाकिस्तान को आतंकवाद का साथ देने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़ा झटका लगा है। दरअसल पाकिस्तान को आतंकवाद को फंडिंग करने के आरोप में बैन कर दिया है।  फाइनेंशियल एक्‍शन टास्‍क फोर्स (FATF) ने पाकिस्‍तान को ब्‍लैकलिस्‍ट की सूची में डाल दिया है। पाकिस्तान पर कई बार इसके लिए अगह भी किया गया लेकिन पाकिस्तान आतंकियों के फंडिंग रोकने में असफल साबित हुआ है। FATF ने कहा कि पाकिस्‍तान की ओर से टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग रोकने के 40 मानकों में से 32 मानकों में फेल पाया गया है।पाकिस्तान ने भारत पर ही लगा दिया आतंकवाद का आरोप..कश्मीर को लेकर कही ऐसी बातें

FATF की ओर से पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट में डाले जाने के बाद से पाकिस्तान की हालत और बुरी होने वाली है। पहले ही पाकिस्तान इन दिनों आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। तो वही अब पाकिस्तान की हालत अंतरराष्ट्रीय स्तर भी बिगड़ती दिख रही है। क्योंकि अब पाकिस्तान को विदेशी पैसे का लाभ मिलने पर भी रोक लग सकती है और कंगाल पाकिस्तान को पैसा मिलना बंद भी हो सकता है। पाकिस्तान अपने आतंकियों के चलते अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेइज्जती का सामना करना पड़ रहा है।हाफिज सईद से ही हार गए इमरान खान ? पाकिस्तान का बुरा हाल

गौरतलब है कि पाकिस्तान आतंकवाद से लड़ने के लिए अपने कमिटमेंट में विफल हो गया है। जिसके बाद एपीजी की बैठक में पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया गया । बात दें कि ऑस्ट्रेलिया के कैनबरा में एपीजी की बैठक का अंतिम दिन था। पाकिस्तान को एफएटीएफ ने पाकिस्तान को समय दिया था कि पाकिस्तान आतंकवाद से लड़े और  टेरर फंडिंग रोके लेकिन वो इस विफल हो गया। आपको बता दें एफएटीएफ जी-7 देशों के ओर से संस्‍थापित अंतरसरकारी संगठन है। इसकी स्‍थापना 1989 में मनी लॉन्ड्रिंग से लड़ने के लिए की गई थी। 2001 में इस संगठन ने आतंकी फंडिंग से भी लड़ने को लेकर काम शुरू किया। एफएटीएफ का सचिवालय पेरिस में है।भारत की आर्थिक नाकेबंदी, अब पाक बैंकर्स ने सरकार को दी चेतावनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here