भारत से पंगा लेना पाकिस्तान को अब पड़ा भारी, खतरे में आई लोगों की जान

0
2473

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान और भारत का तनाव दुनिया देख रही है। जहां एक तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दुनिया भर में भारत के खिलाफ जगह उगल रहे थे। तो वही धारा 370 के फैसले पर पाकिस्तान की सेना भी बौखलाई हुई थी। जिसके चलते पाकिस्तान की सेना सीमा पर हमलावर हो रही थी। इतना ही नहीं, इस बौखलाहट में तो पाकिस्तान ने भारत से सारे व्यापारिक रिश्ते ही खत्म कर लिए। जिसका नुकसान अब पाकिस्तान को उठाना पड़ रहा है। अपनी चादर से ज्यादा पैर पसारने वाला पाकिस्तान अपनी बौखलाहट में सब कुछ भूल गया था। इसी वजह से पाकिस्तान ने सबसे पहले भारत से अपने व्यापारिक रिश्ते खत्म करके, अपने ही पैरों पर कुल्हाड़ी मारी। जिसकी वजह से अब पाकिस्तान में लोगों की जान तक खतरें में पढ़ गई है।

दरअसल व्यापारिक रिश्ते खत्म करने के बाद अब पाकिस्तान में जीवनरक्षक एंटी रेबीज दवाओं की भारी कमी आ गई है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में इन दिनों कुत्तों के काटने के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे है। लेकिन पाकिस्तान के पास इस खतरे से निपटने के लिए एंटी बीज की दवाएं ही उपलब्ध नहीं है। जिसके चलते पाकिस्तान अब परेशानी में पड़ता जा रहा है। हालांकि पाकिस्तान को ये सभी दवाएं भारत से सप्लाई होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं है। वही व्यापारिक संबंध टुटने के बाद अब अगर इन दवाओं को पाकिस्तान यूरोप से लेता है तो ये दवाएं 70 फीसदी ज्यादा महंगी मिलेगी।

भारत से ये वैक्सीन पाकिस्तान को 1 हजार रुपये में पड़ती है लेकिन यूरोप से यही वैक्सीन 70 हजार में पड़ेगी। जिसके चलते अब पाकिस्तान बड़ी परेशानी में पड़ गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने 16 महीनों में भारत से 250 करोड़ रुपये से ज्यादा के रेबीजरोधी और विषरोधी टीकों की खरीद की थी। हालांकि अब पाकिस्तान में ये दवाएं सिर्फ सरकारी अस्पतालों में मौजूद है। तो वही करांची और सिंध जैसे प्रांतों में ये दवाएं लगभग खत्म हो गई है। ये भी पढ़ें:- राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को दी चेतावनी, यदि ऐसा नहीं किया तो पाकिस्तान के होंगे कई टुकड़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here