इमरान खान को करीबी बाजवा ने दिया धोखा! पाक लूटकर बनाई अरबों की संपत्ति

193

पाकिस्तान के वजीर-ए-आलम इमरान खान यूं तो हमेशा से ही विवादों के पात्र रहे हैं। लेकिन इस बार उनका विवाद में आना खुद पाकिस्तान की सरजमीं का हिस्सा है। दरअसल विवादों के पेच में फंसे इमरान खान जिस पाकिस्तान को नया पाकिस्तान बनाने की बात कर सत्ता पर काबिज हुए थे, वह अब भूल गए हैं कि यहां कोई प्रजा भी रहती है। जनता को वादों को पूरा तो बाद में करेंगे पहले अपना कोटा तो पूरा कर लिया जाए। पाकिस्तान में लगातार बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के बाद देश में व्याप्त भ्रष्टाचार से भी वो विपक्ष के निशाने पर हैं, ऐसे में इमरान सरकार की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है। पूरी दुनिया में आतंकवाद के नाम पर अपनी किरकरी करा चुका पाकिस्तान अब अपने ही देश के बाशिंदों से किरकरी करा रहा है। इस बार किरकरी की वजह आतंकवाद नहीं है बल्कि पाक सेना के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम बाजवा हैं, दरअसल पाकिस्तान के एक पत्रकार अहमद नूरानी ने बाजवा के सारे काले चिट्ठों का पर्दाफाश करते हुए उनके द्वारा भ्रष्ट तरीके से जमा की गई अरबों की संपत्ति का खुलासा किया है।

ये भी पढ़ें:-यूट्यूबर हीर खान का निकला पाकिस्तानी कनेक्शन, हिंदू देवी-देवताओं पर की थी अशोभनीय टिप्पणी

पाक सलीम बाजवा की संपत्ति के बारे में खुलासा होने के बाद इमरान सरकार पूरी तरह से विपक्ष के निशाने पर आ गई है। वहीं इस पत्रकार ने ट्विटर पर लिखा, उन्हें इस खुलासे के बाद जान से मारने की धमकी मिल रही है। पत्रकार ने बताया कि उन्हें फोन पर मैसेज कर धमकी दी जा रही है। अब तक सौ से अधिक मैसेजस आ चुके हैं।

इस खुलासे के सामने आने के बाद विपक्ष लगातार इमरान सरकार पर दबाव बनाते हुए निष्पक्ष जांच की मांग कर रहा है, बता दें कि जनरल बाजवा फिलहाल चीन पाक इकॉनोमिक कॉरिडोर के चेयरमैन के साथ-साथ पीएम इमरान खान के विशेष सहायक भी हैं, इस प्रोजेक्ट पर चीन अरबों रुपये लगा रहा है, इस प्रोजेक्ट को दोनों देशों के लिये ड्रीम प्रोजेक्ट के रुप में देखा जा रहा है। आरोप के मुताबिक इससे भी बाजवा ने अरबों की संपत्ति खड़ा कर लिया है। इतना ही नहीं बाजवा की भ्रष्ट संपत्ति का दावा अमेरिका में भी किया जा रहा है।

मालूम हो कि अहमद नूरानी ने ही पाक के चर्चित वेबसाइट फैक्ट फोकस पर पाक जनरल असीम बाजवा की संपत्ति को लेकर खुलासा किया था, गंभीर आरोपों के बाद विपक्ष हमलावर हुआ, सरकार पर बने दबाव की वजह से बाजवा को इस्तीफा देना पड़ गया था, हालांकि इन आरोपों को खारिज करते हुए बाजवा ने खुद को ईमानदार बताया है, उनका

आरोप है कि रिपोर्ट पूरी तरह से झूठी और राजनीति से प्रेरित है। मालूम हो नवाज शरीफ को भ्रष्ट बताते हुए इमरान खान की सरकार ने उनके खिलाफ मामला दर्ज करवाया था, बाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उन्हें पीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

ये भी पढ़ें:-वाईफाई भी हुआ पाकिस्तान जिंदाबाद, मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस