ashraf gani

काबुल/ अबुधाबी। अफगानिस्तान में तालिबान का हथियारों के बल पर कब्जा हो जाने के बाद दुनिया के राजनीतिक समीकरण तेजी से बदले हंै। तालिबान के खिलाफ दुनिया पूरी तरह हो चुकी है। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी काबुल छोड़कर जा चुके हैं। इस समय अशरफ गनी यूएई में हैं। यूएई के विदेश मंत्रालय ने पुष्टि की है कि अशरफ गनी उसके यहां हैं। यूएई के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि यूएई ने मानवीय आधार पर राष्ट्रपति अशरफ गनी और उनके परिवार का स्वागत किया है। परिवार के साथ उन्हें शरण दी गयी है। ज्ञात हो कि तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति गनी ने रविवार को काबुल छोड़ दिया था। पहले बताया जा रहा था कि वह ताजिकिस्तान पहुंच गए हैं लेकिन वहां पर उनकी फ्लाइट लैंड नहीं हो सकी।

अशरफ गनी के साथ अफगानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोहिब भी हैं। अशरफ गनी का कहना है कि उन्होंने देश इसलिए छोड़ा ताकि अफगानिस्तान में ज्यादा रक्तपात न हो। देश और काबूल को बचाने के लिए ऐसा निर्णय लेना पड़ा। अफगानिस्तान के नागरिक उनके मुश्किल समय में देश छोड़कर चले जाने को लेकर काफी नाराज हैं। काबुल, अफगानिस्तान छोड़ने को लेकर हो रही आलोचना के बीच अशरफ गनी ने सोशल मीडिया के जरिये अपना पक्ष रखा। उन्होंने लिखा था, आज मेरे सामने कठिन विकल्प है। मुझे कठिन फैसला लेना पड़ा। मुझे तालिबान के सामने खड़ा रहना चाहिए। मैंने बीते 20 साल से अपनी जीवन यहां के लोगों को बचाने में बिताया है। उन्होंने कहा कि मैंने अगर देश नहीं छोड़ा होता तो यहां की जनता के लिए अंजाम बुरे होते। तालिबानियों ने मुझे हटाया है। वो काबुल में यहां के लोगों पर हमले के लिए यहां आए हैं। काबुल की स्थिति बहुत ही भयावह है।

अशरफ गनी ने कहा कि तालिबान ने हिंसा से लड़ाई जीत ली है। अब उनकी जिम्मेदारी है कि वो अफगानिस्तान के लोगों की रक्षा करे। उन्होंने लिखा कि खूनखराबे से बचने के लिए उन्हें अफगानिस्तान से जाना ही सही लगा।
ज्ञात हो कि अशरफ गनी की गैर-मौजूदगी में अफगानिस्तान के पहले उप राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने खुद को कार्यवाहक राष्ट्रपति घोषित कर दिया है। अमरुल्ला सालेह ने ट्वीट कर संविधान के प्रावधानों का भी उल्लेख किया था। माना जा रहा है कि तालिबान को कठिन चुनौती दी जायेगी।

यह भी पढ़ेंः-जलालाबाद में तालिबानियों ने बरसाई गोली, क्रूर चेहरे के साथ दुनिया से कर रहे ये उम्मीद