भगवान राम के बाद नेपाल ने छेड़ा गौतम बुद्ध जन्मस्थल पर विवाद, दिया बड़ा बयान

80
nepal

नेपाल और भारत के बीच का तनाव लगातार जारी है। एक तरफ नेपाल और भारत के बीच सीमा विवाद शुरू हो गया है। तो दूसरी तरफ अयोध्या और भगवान को लेकर भी जमकर बयानबाजी हो रही है। नेपाल ने हाल मे भगवान राम के जन्मभूमि पर बयान दिया था और दावा किया था कि भगवान राम नेपाल में पैदा हुए थे लेकिन अब नेपाल ने गौतम बुद्ध पर भी एक बड़ा बयान दिया है। नेपाल ने अब दावा किया है कि गौतम बुद्ध भी नेपाल में ही पैदा हुए थे। नेपाल के विदेश मंत्री ने बयान दिया है और ऐतिहासिक तथ्यों का हवाला देते हुए दावा किया है कि नेपाल में ही गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था। जिसके बाद भारत की तरफ से नेपाल को करारा जवाब दिया गया है।

दरअसल हाल ही में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बयान दिया था कि गौतम बुद्ध भारत के है लेकिन अब नेपाल ने विदेश मंत्री के बयान पर आपत्ती जताते हुए कहा है गौतम बुद्ध का जन्म नेपाल में हुआ था। नेपाल के विदेश मंत्रालय के तरफ से कहा गया कि ये निर्विवाद तथ्य है जो ऐतिहासिक और पुरातत्विक साक्ष्यों से सिद्ध होता है कि गौतम बुद्ध का जन्म नेपाल के लुंबिनी में हुआ था। गौतम बुद्ध का जन्मस्थान लुंबिनी युनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों में से एक है। इसके आगे मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि ये सच है कि बुद्ध धर्म नेपाल के बाद दुनिया के दूसरे हिस्सों में भी फैला है लेकिन ये मामला विवाद और संदेह से पूरी तरह परे है।

वहीं, भारत ने बुद्ध को साझा विरासत बताया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि गौतम बुद्ध का जन्म लुम्बिनी में हुआ था, जो नेपाल में है लेकिन बुद्ध साझा विरासत का हिस्सा है।

बता दें कि गौतम बुद्ध से पहले नेपाल की तरफ से भगवान राम पर अजीबो-गरीब दावा किया था। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की तरफ से दावा किया गया था कि भगवान राम का जन्म नेपाल का चितवन जिले में हुआ है। इसी जिले में माडी नगरपालिका क्षेत्र है जिसका नाम अयोध्यापुरी है। वहीं, अब केपी ओली ने अयोध्यापुरी को राम मंदिर बनाने का ऐलान किया है। नेपाल के प्रधानमंत्री ने शनिवार को अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें निर्देश दिया गया कि अयोध्यापुरी में राम, लक्ष्मण और मां सीता की प्रतिमाएं लगाई जाए। इसके साथ ही इस इलाके में भव्य राम मंदिर बनाने का आदेश भी दिया गया।

ये भी पढ़ें:-केपी ओली ने फिर अलापा असली ;अयोध्या का राग; कहा- नेपाल में होगा भव्य मंदिर का निर्माण