इस पड़ोसी देश के हाल हुए श्रीलंका जैसे, केंद्रीय बैंक ने किया बड़ा ऐलान

सेंट्रल बैंक ने वाहनों और किसी भी महंगी या लग्जरी वस्तुओं के आयात पर भी रोक लगाई है. असल में, नेपाल में नकदी की कम हो जाने सहित विदेशी मुद्रा भंडार में भी काफी कटौती हो रही है.

0
476

एक बड़ी घोषणा नेपाल के केंद्रीय बैंक (Nepal Central Bank) ने की है. सेंट्रल बैंक ने वाहनों और किसी भी महंगी या लग्जरी वस्तुओं के आयात पर भी रोक लगाई है. असल में, नेपाल में नकदी की कम हो जाने सहित विदेशी मुद्रा भंडार में भी काफी कटौती हो रही है. इसकी वजह से बैंक को यह बड़ा निर्णय लेना पड़ गया है. नेपाल के केंद्रीय बैंक ‘नेपाल राष्ट्र बैंक’ (NRB) ने बीते सप्ताह अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक के बाद कुछ निर्देश भी जारी किए.

एनआरबी के प्रवक्ता गुणाखार भट्ट ने इस ऐलान के बाद कहा कि, ‘हमें अर्थव्यवस्था में किसी तरह के संकट के संकेत नजर आ रहे हैं जो मुख्यत: आयात बढ़ने की वजह से हैं. इसलिए हम उन वस्तुओं के आयात को रोकने पर विचार कर रहे हैं जिनकी तुरंत आवश्यकता नहीं है.’

विदेशी मुद्रा भंडार में भी लगातार हो रही गिरावट

ज्ञात हो कि पड़ोसी देश श्रीलंका के जैसे ही नेपाल के आर्थिक हालत बिगड़े हुए है. जुलाई 2021 नेपाल में आयात बढ़ने, पर्यटन एवं निर्यात से होने वाली आय की कमी और भुगतान प्रवाह घटने की वजह से विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आ रही है. केंद्रीय बैंक की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, फरवरी, 2022 तक देश का विदेशी मुद्रा का कुल भंडार 17 प्रतिशत कम होकर 9.75 अरब डॉलर हो गया है, जो कि जुलाई, 2021 के बीच तक 11.75 अरब डॉलर था. फिलहाल, नेपाल के वित्त मंत्री जनार्दन शर्मा ने इस बात का भरोसा दिलाया था कि देश श्रीलंका की राह पर नहीं जा रहा है.

ये भी पढ़ें-कपिल के शो में बिग बी के बेटे अभिषेक बच्चन ने किया पिता से जुड़ा बड़ा खुलासा